Main Sliderबिहार

जज ने कहा: लालू को खुली जेल बेहतर होगी, क्‍योंकि उन्‍हें गाय पालन का अनुभव है

रांची। चारा घोटाले से जुड़े देवघर कोषागार से 89 लाख, 27 हजार रुपये की अवैध निकासी के मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री एवं राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव, आरके राणा, जगदीश शर्मा एवं तीन वरिष्ठ पूर्व आईएएस अधिकारियों समेत 16 लोगों की सजा पर सीबीआई विशेष अदालत 4 बजेे अपना फैसला सुनाएगी। सीबीआई के विशेष न्यायाधीश शिवपाल सिंह वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिये अपना फैसला सुनाएंगे। सजा सुनाए जाने से पहले जज शिवपाल सिंह ने सुनवाई के दौरान कहा, ‘इन दोषियों के लिए एक खुली जेल बेहतर होगी, क्‍योंकि उन्‍हें गाय पालन का अनुभव भी है’।

इससे पहले शनिवार को दोषियों की सजा के बिन्दु पर अदालत में बहस पूरी हो गई थी और अदालत ने सजा सुनाने के लिए शनिवार दो बजे का समय निर्धारित किया था। अदालत में शुक्रवार को दोपहर दो बजे सीबीआई के विशेष न्यायाधीश शिवपाल सिंह ने राजद प्रमुख लालू प्रसाद एवं उनकी पार्टी के दूसरे नेता आरके राणा की पेशी जेल से ही वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से कराने के निर्देश दिए थे. इसके बाद न्यायाधीश ई-कोर्ट पहुंचे और वहां ई-लिंक के माध्यम से लालू यादव एवं आरके राणा की अदालत में पेशी कराई गई थी। अदालत ने सजा के बिंदु पर लालू के वकीलों की बहस सुनी, जिसमें उन्होंने उनकी लगभग 70 वर्ष की उम्र होने और बीमार होने की बार-बार दुहाई दी. अदालत ने एक-एक कर बाद में अन्य शेष सात अभियुक्तों की भी सजा के बिन्दु पर उनकी उपस्थिति में बहस सुनी। ये सभी अदालत में हाजिर हुए। लालू के वकील चितरंजन प्रसाद ने बताया कि अदालत ने सजा के बिन्दु पर सभी की बहस सुनने के बाद इस मामले में आदेश के लिए शनिवार दोपहर दो बजे का समय निर्धारित किया था।

शुक्रवार को पूरी हुई लालू की सजा पर बहस
इस मामले में जहां पांच आरोपियों बेक जूलियस, गोपीनाथ, ज्योति कुमार, जगदीश शर्मा एवं कृष्ण कुमार प्रसाद की सजा के बिन्दु पर उनके वकीलों ने गुरुवार को बहस पूरी कर ली थी, वहीं वर्णक्रम अनुसार लालू प्रसाद की बारी शुक्रवार को सातवें नंबर पर आई. अदालत ने लालू प्रसाद, आरके राणा के अलावा पूर्व आईएएस अधिकारी फूलचंद सिंह, महेश प्रसाद, पूर्व सरकारी अधिकारी सुबीर भट्टाचार्य एवं चारा आपूर्तिकर्ताओं त्रिपुरारी मोहन प्रसाद, सुशील कुमार सिन्हा, सुनील कुमार सिन्हा, राजाराम जोशी, संजय अग्रवाल एवं सुनील गांधी के वकीलों की बहस सजा के बिन्दु पर सुनी।

loading...
Loading...

Related Articles