उत्तर प्रदेशलखनऊ

आलूकांड का खुलासा, दो गिरफ्तार, साजिश में सपा नेता 6 शामिल

लखनऊ। राजधानी लखनऊ स्थित विधानभवन, राजभवन और मुख्यमंत्री आवास के सामने आलू फेंकने के मामले का खुलासा कर दो लोगों को गिरफ्तार किया है। शुक्रवार को कन्नौज से घटना में प्रयुक्त वाहन समेत गिरफ्तार किए गए दोनों आरोपियों को आज लखनऊ लाया गया। जिन्हें एसएसपी दीपक कुमार ने मीडिया के सामने पेश किया। पकड़े गए दोनों आरोपियों की पहचान कन्नौज के सपा नेता के करीबी अंकित सिंह और डाला चालक संतोष पाल के रूप में हुई है। पुलिस का कहना है कि विधानसभा के सामने आलू फेंकने की साजिश कन्नौज के जिला पंचायत अध्यक्ष के पति समेत 6 लोगों ने मिल कर रची थी। बताया जा रहा है कि घटना में शामिल सभी लोग राजनैतिक तौर पर समाजवादी पार्टी से जुड़े हैं।

शनिवार को प्रेस वार्ता में एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि आलू फेंके जाने की मामले में पुलिस टीम ने 10 हजार से अधिक नम्बरों को सर्विलांस और सीसीटीवी फुटेज के आधार पर 12 जनवरी की रात को कन्नौज के ठठिया इलाके से अंकित सिंह निवासी तिर्वा कन्नौज और डाला चालक संतोष पाल निवासी थाना ठठिया जनपद कन्नौज को घटना में प्रयुक्त बोलेरो व दो मोबाइल के साथ गिरफ्तार किया गया।

उन्होंने बताया कि पकड़े गए दोनों आरोपियों से पूछताछ और मोबाइल लोकेशन व साक्ष्यों के आधार पर पाया गया कि आलू फेंके जाने की साजिशं शिवेंद्र सिंह उर्फ कुक्कु चौहान, संदीप उर्फ रिक्की यादव, दीपेंद्र सिंह चौहान, संजू कटियार, प्रदीप सिंह उर्फ बंगाली प्रधान और जय कुमार तिवारी उर्फ बड़े बउवन के साथ मिलकर रची थी। शिवेंद्र सिंह ने पुरानी ठठिया स्थित सतीश जाटव के कोल्ड स्टोर से आलू खरीदे थे। वहीं संदीप उर्फ रिक्की यादव ने गाड़ियों की व्यवस्था की थी। दीपेंद्र सिंह ने आलू इन गाड़ियों में लदवाये थे। वहां से ये सभी एक स्कॉर्पियों के जरिए आलू लदे पिकअप के पीछे-पीछे लखनऊ तक आये थे। यहां लाल बहादुर शास्त्री मार्ग पर रुकने के बाद 1090 चौराहे से लेकर विधान भवन तक आलू फेंके थे।

एसएसपी ने बताया कि पूछताछ में पता चला कि शिवेन्द्र सिंह उर्फ कुक्कू चौहान तिर्वा जनपद कन्नौज से नगर पंचायत अध्यक्ष का चुनाव लड़ा था। वहीं संजू कटियार वर्तमान कन्नौज के जिला पंचायत अध्यक्ष शिल्पी चौहान के पति हैं। एसएसपी ने बताया कि वह लोग लालबहादुर शास्त्री मार्ग पर रात में कहां-कहां रूके थे और किन-किन लोगों की इस घटना में संलिप्तता है उसकी जांच की जा रही है।
एएसपी पूर्वी स़र्वेश मिश्र ने बताया कि अंकित व सुशील समाजवादी युवजन सभा से जुड़े होने की बात कह रहे हैं। जिसकी पड़ताल की जा रही है।
गौरतलब है कि 7 जनवरी को विधान भवन, राजभवन, मुख्यमंत्री आवास के सामने भारी मात्रा में कुछ लोग आलू फेंक कर चले गए थे। इस मामले में पांच पुलिसकर्मियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया था।

loading...
Loading...

Related Articles