Main Sliderअंतरराष्ट्रीय

जाधव पर पाकिस्तान में आतंकवाद मचाने के आरोप लगाए, जासूसी के आरोप में मौत की सजा…

इस्लामाबाद। पाक का दावा है कि जाधव को मार्च 2016 में बलूचिस्तान से अरेस्ट किया गया था। पाक मिलिट्री कोर्ट ने उन्हें अशांति फैलाने और जासूसी करने के आरोप में फांसी की सजा सुनाई है। पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव पर नए आरोपों में केस दर्ज करने की तैयारी है। पाकिस्तान सरकार ने कहा है कि जाधव पर आतंकवाद फैलाने और देश में तबाही मचाने की साजिश के आरोपों में केस चलाए जाएंगे। बता दें कि जाधव इंडियन नेवी के एक रिटायर्ड अफसर हैं। इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस ने सजा के अमल पर रोक लगा रखी है।

श्रीनगर: गोलीबारी की आड़ में पाकिस्तानी कैदी फरार जानें आतंकी हमले की बड़ी बातें…

अफसर कर रहे हैं नए केस दर्ज करने की तैयारी
पाकिस्तान के अखबार ‘द डॉन’ की खबर में जाधव पर नए केस चलाने की जानकारी वहां के अफसरों के हवाले से दी गई है। जाधव पर पाकिस्तान में आतंकवाद फैलाने और तबाही मचाने के आरोप लगाए जाएंगे। जासूसी के आरोप में उन्हें पिछले साल अप्रैल में मिलिट्री कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई थी।
रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि पाकिस्तान के अफसर जाधव पर नए केस दर्ज करने की तैयारी कर रहे हैं।

भारत के 13 अफसरों से पूछताछ करना चाहता है पाकिस्तान
इस अफसर ने कहा कि पहले जाधव के खिलाफ सिर्फ जासूसी का केस दर्ज किया गया था। इस केस में मिलिट्री कोर्ट ने उन्हें फांसी की सजा सुनाई थी।
रिपोर्ट में इस अफसर के हवाले से कहा गया है कि पाकिस्तान सरकार जाधव मामले में भारत के 13 अफसरों से पूछताछ करना चाहती है। इन अफसरों से पूछताछ की इजाजत भी मांगी गई है। भारत ने अब तक किसी तरह का सहयोग नहीं दिया है।
पाकिस्तान ने उन 13 अफसरों के नाम नहीं बताए हैं जिनसे वो पूछताछ करना चाहता है। इस अफसर ने कहा- हम जाधव के हैंडलर्स तक पहुंचना चाहते हैं।

कासगंज हिंसा: सोशल नेटवर्किंग के जरिए नफरत फैलाने वाला ग्रुप एडमिन गिरफ्तार…

जाधव के बारे जानकारी दे भारत
रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान ने भारत से जाधव का नेवी सर्विस रिकॉर्ड मांगा है। इसके अलावा उनकी पेंशन और पासपोर्ट से जुड़े दस्तावेज भी मांगे गए हैं। पाकिस्तान का आरोप है कि जाधव के पास मुबारक हुसैन पटेल के नाम से जाली पासपोर्ट बरामद किया गया था। जाधव की मुंबई पुणे और महाराष्ट्र के कुछ दूसरे हिस्सों में प्रॉपर्टी है। पाकिस्तान इनसे जुड़े दस्तावेजों की भी जांच करना चाहता है।
बता दें कि इंटरनेशनल कोर्ट फिलहाल भारत की कॉन्स्यूलर एक्सेस की मांग पर दलीलें सुन रहा।

क्या है कुलभूषण जाधव मामला?
पाक की मिलिट्री कोर्ट ने जाधव को जासूसी और देश विरोधी गतिविधियों के आरोप में फांसी की सजा सुनाई है। भारत का कहना है कि जाधव को ईरान से अगवा किया गया था। इंडियन नेवी से रिटायरमेंट के बाद वे ईरान में बिजनेस कर रहे थे।
पाक का दावा है कि जाधव को बलूचिस्तान से 3 मार्च 2016 को अरेस्ट किया गया था। पाकिस्तान ने जाधव पर बलूचिस्तान में अशांति फैलाने और जासूसी का आरोप लगाया है। पिछले साल 25 दिसंबर को जाधव की पत्नी चेतना और मां अवंतिका उनसे मिलने पाकिस्तान गईं थीं। वहां उनसे पाकिस्तान के अफसरों ने बदसलूकी की थी।

loading...
Loading...

Related Articles