Main Sliderकारोबार

आधार लिंक नहीं करने से बढ़ सकती मुसीबत, फंस जाएंगे बीमा और पीएफ के पैसे…


दिल्ली। डिजिटल इंडिया की तरफ कदम बढ़ाते हुए सरकार ने 139 सेवाओं से आधार लिंक का सर्कुलर बीते दिसंबर में जारी किया था। जिसमें इन सर्विसिस में आधार लिंक करने के लिए 31 मार्च 2018 तक की समय सीमा तय की थी। योजनाओं में आधार से लिंक करने का मामला अभी सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है।सरकारी सेवाओं और योजनाओं में 31 मार्च 2018 तक आधार लिंक नहीं करने से आपकी मुसीबतें बढ़ सकती हैं। 31 मार्च के बाद आपका मोबाइल नंबर बैंक खाता जीवन बीमा या मेडिक्लेम पॉलिसी रसोई गैस नंबर आदि आधार कार्ड से लिंक न होने पर ये सर्विसिस बंद हो सकती हैं।

यह व्यक्ति की पहचान का मामला
यूआईडीएआई के सीईओ अजय भूषण से बात की तो उन्होंने कहा कि इस तरह के फैसले और सर्कुलर जारी करने की जिम्मेदारी संबंधित मंत्रालय विभाग और राज्यों की है। 31 मार्च के बाद का भी फैसला यही संस्थाएं करेंगी। गौरतलब है कि आधार लिंक करने मामले सिर्फ वित्तीय सेवाओं से जुड़ा नहीं है यह व्यक्ति की पहचान का मामला है।

इन्फॉर्मेशन एंड टेक्नोलॉजी मिनिस्ट्री की जिम्मेदारी संभाल रहे कैबिनेट मंत्री रविशंकर प्रसाद से जब हमने बात करनी चाही तो उन्होंने यह कहकर अपना आधिकारिक बयान देने से मना कर दिया कि आधार कार्ड से संबंधित मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है।

रुक सकती है इलाज में मिलने वाली आर्थिक मदद
स्वास्थ्य मंत्रालय के एक सीनियर अधिकारी ने बताया कि मरीजों को कहा जाता है कि कैंसर-डायलिसिस और गंभीर बीमारी योजना में आर्थिक मदद लेने के लिए आधार लिंक करवाएं। 31 मार्च के बाद भी कोशिश रहेगी कि यह नियम लागू रहे।

आधार लिंक न होने पर इनकी आर्थिक मदद रोकी जा सकती है। लेकिन इलाज फिर भी नहीं रुकेगा। जब इन योजनाओं को आधार से लिंक कर दिया जाएगा तो बकाया पूरी राशि मरीजों को दे दी जाएगी। वहीं एलआईसी के अधिकारियों ने बताया कि अगर अंतिम तारीख तक आधार लिंक नहीं कराया तो पॉलिसी से संबंधित सेवा प्रभावित होगी।

मोबाइल नंबर: टोल फ्री नंबर से करें लिंक
टेलीकॉम कंपनियों ने आधार को प्री पेड मोबाइल से लिंक करने के लिए 14546 टोल फ्री नंबर जारी किया है। यहां नंबर नाम जन्मतिथि जैसी जानकारियां देनी होंगी। फिर ओटीपी मांगा जाएगा जो 30 मिनट के लिए मान्य होगा। इसे डालने के बाद आधार लिंक हो जाएगा।

वहीं पोस्ट पेड यूजर्स को सर्विस प्रोवाइडर के पास जाना होगा वहां आपके आधार व फिंगरप्रिंट के जरिए मोबाइल नंबर का वेरिफिकेशन होगा। ऐसा नहीं किया तो 31 मार्च के बाद नंबर बंद हो सकता है।

बैंक अकॉउंट: ऑनलाइन कर सकते हैं लिंक
बैंक जाकर खाते की जानकारी और आधार कार्ड की कॉपी देकर लिंक करा सकते हैं। ऑनलाइन भी लिंक कर सकते हैं। स्टेट बैंक के कस्टमर्स आधार नंबर और खाता संख्या लिखकर 567676 पर मैसेज कर सकते हैं। वहीं एसबीआई समेत कुछ बैंक एटीएम के माध्यम से भी आधार कार्ड लिंक करने की सुविधा दे रहे हैं।

इसके लिए एटीएम में कार्ड स्वाइप कर अपना पिन डालें और फिर सर्विस रजिस्ट्रेशन का ऑप्शन सिलेक्ट करें। इस मेन्यू में आधार कार्ड रजिस्ट्रेशन का ऑप्शन सिलेक्ट करें।

रसोई गैस: बुकिंग वाला नंबर डायल करें
इसके लिए आप या तो संबंधित गैस डीलर के पास जाकर आधार नंबर की कॉपी दे सकते हैं नहीं तो बेहतर है कि आप जिस तरह मोबाइल से रसोई गैस की बुकिंग करते हैं उस कंपनी का बुकिंग नंबर डायल करें उसमें आधार से लिंक करने का भी विकल्प पूछा जाता है इसे फॉलो कर आप अपने आधार कार्ड को लिंक कर सकते हैं।

यदि आप ऐसा नहीं करते हैं तो आपको कनेक्शन पर मिलने वाली सब्सिडी का लाभ नहीं मिल पाएगा। कनेक्शन भी ब्लॉक हो सकता है।

बीमा: सिर्फ पॉलिसी नंबर जन्मतिथि बतानी होगी
बीमा योजना की वेबसाइट पर जाकर आधार लिंक करें। कंपनी के सर्विस डिपार्टमेंट में जाकर भी यह काम करा सकते हैं। ज्यादातर मामलों में सिर्फ अपना पॉलिसी नंबर और जन्मतिथि देनी होगी। वेरिफिकेशन हो जाएगा। एलआईसी एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस आईसीआईसीआई प्रूडेंशल लाइफ इंश्योरेंस और मैक्स लाइफ इंश्योंरेंस ऑनलाइन लिंकिंग सेवा दे रहे हैं।

म्युचुअल फंड: सभी फंड जोड़ने होंगे
म्युचुअल फंड में अगर आप इन्वेस्ट कर रहे हैं तो आप जिस भी फंड हाउस से म्युचुअल फंड ले रहे हैं उसे आधार से लिंक करना होगा। अगर आपके पास एक से अधिक फंड हाउस के म्युचुअल फंड हैं तो आपको एक से अधिक फंड हाउस को आधार से लिंक करना होगा।

पैन कार्ड: इनकम टैक्स की वेबसाइट पर जाएं
पैन कार्ड को लिंक करने के लिए आपको इनकम टैक्स की वेबसाइट पर जाना होगा। पैन और आधार कार्ड डिटेल्स को सबमिट करें और ऑथेंटिकेशन प्रॉसेस को पूरा करें। इसके लिए जो आपके रिटर्न भरते हैं उन सीए या कर सलाहकार को बोलना अधिक आसान होगा वह इसे आसानी से पूरा कर देंगे।

ड्राइविंग लाइसेंस: पुराने मान्य, रिन्यू में जरूरी
परिवहन विभाग में बिना आधार अपडेट के केवल पुराने लाइसेंस मान्य होंगे लेकिन इनको रिन्यू करने के लिए आधार कार्ड देना जरूरी कर दिया गया है। नया लाइसेंस बनाने में तो आधार कार्ड लगेगा ही। इसी तरह नए और पुराने वाहन खरीदी पर भी आधार कार्ड देना जरूरी होगा।

डेबिट/ क्रेडिट कार्ड: कस्टमर केयर पर कॉल करें
क्रेडिट और डेबिट कार्ड लिंक करने के लिए संबंधित बैंक की कस्टमर केयर सर्विस का लाभ ले सकते हैं। वह आपकी जानकारी का वेरिफिकेशन कर आधार नंबर की जानकारी लेंगे और इसे लिंक करेंगे। संबंधित कार्ड ‌जारी करने वाले बैंक शाखा में जाकर वहां भी प्रक्रिया कर सकते हैं। नहीं तो बाद में कार्ड ब्लॉक हो सकता है।

पीएफ: वेबसाइट पर ऑनलाइन लिंक करें
पीएफ को आधार से जोड़ने के लिए पीएफ की वेबसाइट पर जाएं। यूनिवर्सल अकाउंट नंबर और पासवर्ड से लॉगइन करें। मांगी गई जानकारियां देकर आधार लिंक करें। पोस्टऑफिस द्वारा चल रही विविध योजनाओं को भी आधार से लिंक कराना है। यहां खाता या पॉलिसी संयुक्त नाम पर है तो दोनों के आधार नंबर लगेंगे।

loading...
Loading...

Related Articles

Back to top button