भोजपुर

सड़क जाम समस्या के खबरों का असर, या गुमराह करने की महज विभागीय खाना पूर्ति???

सड़क जाम समस्या के खबरों का असर या आम-अवाम को गुमराह करने की महज विभागीय खानापूर्ति???

क्या केवल फुटपाथी दुकानदारों को हटाने से समाधान हो जाएगी सड़क जाम की समस्या???

आरा(डिम्पल राय)। सड़क जाम जैसी विकराल समस्या से निजात पाने के लिए जिला प्रशाशन ने बड़े वाहनों की नोइंट्री, वनवे सिस्टम सहित अतिक्रमणकारियों के खिलाफ मुहिम छेड़ दी है। मगर लोगो के बीच ये चर्चा शुरू हो गई है कि क्या सड़क किनारे झुग्गी झोपड़ी एवं गुमटी लगाकर जीवन यापन की कोशिश करने वालो को हटाने से आरा शहर को सड़क जाम जैसी विकराल समस्या से छुटकारा मिल जायेगा? ये प्रश्न सड़क जाम जैसी विकराल समस्या से भी विकराल रूप में मुँह बाए खड़ी है। वही कुछ लोगो की माने तो जिला प्रशाशन का ये अतिक्रमण मीडिया में जाम की खबर आने के बाद महज एक दिखावा एवं विभागीय खानापूर्ति है। आपको बता दे कि कई वर्षों में आरा शहर का तेजी से आधुनिकीकरण हुआ है। महानगरों की तर्ज पर यहां दर्जनों शॉपिंग मॉल तथा रेस्टोरेंट खोले गये हैं। जिस गति में शहर में मॉल व रेस्टोरेंट कल्चर हावी हुआ है, उस गति से शहर में विकास की रफ्तार काफी धीमी है। ऐसे में शहर की एक ऐसी आम समस्या जिससे आये दिन परेशानी खड़ी होती है, वह है यहां लगने वाला सड़क जाम। यह एक ऐसी समस्या है, जिससे आम से लेकर खास हर कोई त्रस्त है। शहर में अतिक्रमण व जाम की समस्या विकराल हो चुकी है। यही वजह है, की आए दिन लोगों को समस्या से दो चार होना पड़ता है। कई बार तो एम्बुलेंस के जाम में फसने के कारण बीमार लोगों के जीवन पर भी आफत आ जाती हैं। प्रशासनिक अधिकारी भी इसका हर समय शिकार रहते हैं, उसके बाद भी प्रशासनिक स्तर पर इस समस्या के निदान का कोई निर्णायक कदम नहीं उठाया गया। आपको बताते चले कि शहर के जिन भी इलाकों में मॉल या बड़े-बड़े कॉम्प्लेक्स बने हैं, उन जगहों पर जाम की समस्या आम है। मुख्य बाजारों में लगभग एक दर्जन शॉपिंग मॉल व बड़े-बड़े मार्केटिंग कॉम्प्लेक्स बनाये गये हैं। लेकिन इन सभी के पास पार्किंग जोन नहीं हैं। कुछ लोगो के पास है भी तो वो भी सिर्फ खानापूर्ति के लिए। ऐसे पार्किंग जोन में संख्या के अनुसार वाहनों को पार्क करना सम्भव नही हो पाता है। इस कारण लोग अपने छोटे-बड़े वाहन सड़क किनारे ही खड़ा कर देते हैं। यहां कई लोग ऐसे हैं जो बिच सड़क में गाड़ी पार्क कर बगल में खरीददारी के लिए चले जाते हैं। ऐसे में जब कोई बड़ा वाहन आता है तो लोगों को जाम की समस्या का सामना करना पड़ता है। जाम की विकराल समस्या से निजात पाने के लिए हर बार की तरह इस बार भी जिला प्रशासन ने जहा सुबह 8 बजे से रात 8 बजे तक बड़े वाहनों के प्रवेश पर रोक लगा दी है। वही वनवे सिस्टम को भी लागू कर दिया है। अब ऐसे में देखने वाली बात होगी कि बड़े वाहनों की नो इंट्री सहित वनवे सिस्टम इस जाम की विकराल समस्या से निजात दिलाने में कितना कारगर साबित हो पाता है।

loading...
Loading...

Related Articles