Main Sliderउत्तर प्रदेश

बरसों पुरानी दुश्मनी को भुलाकर कमाल कर दिया अखिलेश और मायावती की ये दोस्ती लोकसभा चुनावों में दिखायेेंगी आपना दम…

उत्तर प्रदेश। आजम ने कहा है कि दोनों दल 2019 में सीटों के सम्मानजनक बंटवारे के साथ चुनाव लड़ेंगे उन्होंने कहा अगर हम फिर बिछड़ जाएंगे तो हार जाएंगे एक दुश्मन ने हमें दोस्त बना दिया अब ये दोस्ती लंबी चलेगी। उत्तर प्रदेश की दो सीटों पर हुए उपचुनावों में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के गठबंधन से भारतीय जनता पार्टी को करारी हार का सामना करना पड़ा दोनों दल अपनी बरसों पुरानी दुश्मनी को भुलाकर साथ आए और कमाल कर दिया।

राहुल राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद कांग्रेस का पहला अधिवेशन शुरुआत राहुल के भाषण…

अखिलेश यादव और मायावती की ये दोस्ती 2019 लोकसभा चुनावों में भी अपना दम दिखा सकती है समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान का कहना है कि ये दोस्ती लंबी चलेगी और दोनों दल 2019 में साथ चुनाव लड़ेंगे।

आपको बता दें कि 14 मार्च को गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा उपचुनाव के नतीजों में समाजवादी पार्टी के उम्मीदवारों को बड़ी जीत हासिल हुई थी गोरखपुर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और फूलपुर उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य की सीट रही है।

आजम ने बताया कि अखिलेश और मायावती के बीच बातचीत काफी अच्छी रही थी उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव अपने पिता की तरह ही हैं लेकिन वह साथ में और भी बेहतर काम करते हैं 2019 के चुनावों में सीटों के फॉर्मूले पर आजम ने कहा कि दोनों पार्टियां इस पर बात करेंगी कुछ हमारे पास रहे और कुछ उनके पास रहे यही बेहतर होगा।

गोरखपुर में अपने गुरु हार से कार्यकर्ता ने खाना-पानी छोड़ दिया उतरा ​इस अनोखी जिद पर…

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधते हुए आजम ने कहा कि वो हिंदू हैं लेकिन ईद नहीं मनाते मैं मुस्लिम हूं लेकिन होली जरूर मनाता हूं मेरे घर में होली के समय गुजिया अपने मुस्लिम दोस्तों में भी बांटता हूं उन्होंने कहा कि मुसलमान 28 से 30 दिन रोज़ा रखते हैं और फिर ईद मनाते हैं ईद वाले दिन सिर्फ शैतान रोज़ा रखता है और ईद नहीं मनाता है ईद ना मनाकर आप खुद को शैतान की श्रेणी में क्यों लाना चाहते हैं।

loading...
Loading...

Related Articles