उत्तर प्रदेश

यूपी में आंधी-पानी से फसलों को भारी नुकसान, गई तीन की जान

 


लखनऊ। उप्र के कई जिलों में कल की दोपहर बाद आई आंधी से उड़ती धूल से जनमानस प्रभावित हुआ। कुछ क्षेत्रों में ओले भी पड़े। आंधी के दौरान तीन लोगों की मौत हो गई। कई जगह पेड़ व खंभे गिरने की भी बिजली आपूर्ति भी प्रभावित रही।

मौसम के इस मिजाज से आम, गेहूं, सरसो, लाही और अरहर की फसल को भारी नुकसान होने का अनुमान है। जिससे किसानों के माथे पर चिंता की लकीरें बढ़ गई हैं। गोंडा में आंधी के दौरान गिरी बल्ली लगने से एक व्यक्ति की मौत हो गई।

फैजाबाद, अंबेडकरनगर, सुलतानपुर, रायबरेली, अमेठी, लखनऊ, सीतापुर, हरदोई, लखीमपुर, बलरामपुर व बाराबंकी में शुक्रवार को आई आंधी के थमने के बाद हल्के बादल भी छाए, हालांकि बारिश नहीं हुई। मौसम विशेषज्ञों के मुताबिक गत कई दिनों से यहां उच्च तापक्रम बना हुआ है।

वहीं, पूर्वांचल के विभिन्न जिलों में शुक्रवार की शाम अचानक आई तेज आंधी संग बूंदाबांदी से जानमाल का नुकसान हुआ। आजमगढ़ जिले के सरायमीर इलाके में आंधी के दौरान लिंटर का सेटरिग गिरने से दो मजदूरों की मौत हो गई जबकि एक अन्य घायल हो गया। फसलों को भी काफी नुकसान पहुंचा है।

तेज हवा के कारण कई घरों के टीनशेड व छप्पर उड़ गए। मौसम के अचानक करवट बदलने से तापमान में भी गिरावट आई। जौनपुर में आंधी संग बूंदाबादी से किसानों के माथे पर बल पड़ा है। गाजीपुर में तेज आंधी से कई पेड़ व बिजली के पोल गिर गए। इससे अलग-अलग स्थानों पर एक युवक सहित कई लोग घायल व चोटिल हो गए।

बलिया नगर के राजभर बस्ती में तेज आंधी के कारण छत से गिरकर सुमन राजभर गंभीर रूप से जख्मी हो गई। गंभीर हालत में उसे सीयर सीएचसी में भर्ती कराया गया है। मऊ, मीरजापुर, सोनभद्र, चंदौली व भदोही में भी तेज आंधी से धूल का गुबार उड़ता रहा। कई लोगों की दुकानों के सामने लगे टीन शेड उड़कर दूर जा गिरे।

loading...
Loading...

Related Articles

PHP Code Snippets Powered By : XYZScripts.com