Main Sliderउत्तर प्रदेश

कासगंज में डकैती के दौरान ट्रिपल मर्डर: प्रदर्शन में पथराव, फायरिंग और लाठीचार्ज

कासगंज। उत्तर प्रदेश का कासगंज जिला गुरुवार की रात तीन हत्याओं से दहल गया। यहां हथियारबंद एक दर्जन से अधिक बदमाशों ने एक घर में डकैती डाली। विरोध करने पर परिवार के तीन सदस्यों की चारपाई से बांधकर सरियों से पीट-पीटकर बेरहमी से हत्या कर दी। इसके बाद बदमाश घर का कीमती सामान लेकर फरार हो गये। सुबह जैसे ही इस मर्डर की सूचना पुलिस को मिली तो पुलिस महकमें में हड़कंप मच गया। 
 
तनाव और लोगों का आक्रोश देखते हुए मौके पर कई थानों की पुलिस और पीएसी बुला ली गई। इसको लेकर कासगंज के सहावर में जाम के दौरान भीड़ और पुलिस फोर्स में टकराव पैदा हो गया। भीड़ ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस दौरान पुलिस की ओर से लाठीचार्ज भी किया गया। एक पत्रकार के साथ भीड़ ने हाथापाई भी की। जिसके बाद भगदड़ मच गई। हालात को संभालने के लिए पीएसी बुलाई गई। 
 
घटना की जानकारी मिलते ही एसपी पीयूष श्रीवास्तव भी मौके पर पहुंचे। इसके बाद उग्र भीड़ ने पुलिस पर पथराव कर दिया। जिसके जवाब में पुलिस ने लाठीचार्ज किया। आंसू गैस का प्रयोग कर भीड़ को खदेड़ा। दोनों ओर से फायरिंग की गई। बेकाबू भीड़ को पुलिस ने खदेड़ शवों को लिया कब्जे में। पथराव में मीडियाकर्मियों समेत कई घायल हुए हैं। 
 
लाखों रूपये की नगदी और सामान लूट ले गए बदमाश
जानकारी के मुताबिक, कासगंज के कस्बा सहावर में अवंती बाई नगर में बीती रात बदमाशों ने वीभत्स घटना को अंजाम देते हुए एक मकान में डाका डाला। रेलवे स्टेशन के सामने अवंती बाई नगर में बदमाशों ने बीते गुरुवार की रात बलवंत सिंह के घर में धावा बोला इस दौरान घर में चारपाई पर सो रही चंपा देवी पत्नी बलवंत सिंह माया देवी पत्नी राजकुमार एवं रामदास पुत्र किशनलाल को चारपाई पर ही रस्सियों से बांध दिया। इसके बाद तीनों पर ताबड़तोड़ सरिया से प्रहार किए गए। जिससे तीनों लोगों की मौत हो गई। जबकि 3 लोग जिंदगी और मौत से जूझ रहे हैं। बदमाश डाका डालने के दौरान लाखों रुपए के नगदी जेवरात लूटकर ले कर भाग गए। घटना की जानकारी सुबह हुई तो गुस्साए लोगों ने तीनों लोगों की लाशों को सड़क पर रखकर जाम लगा दिया। 
 
घटना के विरोध में प्रदर्शन कर रहे लोगों पर लाठीचार्ज
इसके अलावा बदमाशों की मारपीट की आवाज सुन जागे राजकुमार के पुत्र अजय एवं पुत्री आरती वर राजकुमार को बदमाशों ने जमकर पीटा और अधमरा कर डाला। बदमाश मकान में रखी नकदी और जेवरात समेट कर भाग गए। घटना की जानकारी सुबह लोगों को ही तो उन्होंने गुस्से में रोड पर जाम लगा दिया। सूचना मिलने पर पुलिस के अधिकारी कस्बा सहावर के लिए दौड़ पड़े। कासगंज रेलवे स्टेशन के पास सहवर थाना क्षेत्र के अवंतीबाई नगर में रात तीन लोगों की चारपाई से बांधकर बेरहमी से हत्या कर दी गई। ट्रिपल मर्डर की इस दिल दहला देने वाली इस घटना के बाद लोगों में पुलिस के प्रति आक्रोश है। घटना के विरोध में लोगों ने रोड जाम कर दिया। भीड़ ने पुलिस पर पथराव शुरु किया तो पुलिस ने जवाबी कार्रवाई में आंसू गैस के गोले दागे। मौके पर तनाव को देखते हुए भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। भीड़ ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस दौरान पुलिस की ओर से लाठीचार्ज भी किया गया।
 
बावरिया गैंग की तरफ घूमी शक की सुई
डकैतों द्वारा 50,000 की नकदी, 5 लाख का जेवरात ले जाने की जानकारी राजकुमार के भाई संजय ने दी है। राजकुमार शराब के ठेके पर केंटीन चलाता था। उपद्रव की सुचना पर आइजी डॉ संजीव गुप्ता और एडीजी अजय आनंद भी सहावर पहुँचे। वारदात में शामिल बदमाशों की संख्यां दर्जन भर से अधिक बताई जा रही है। कासगंज के कस्बा सहावर में बदमाशों ने वीभत्स घटना को अंजाम देते हुए एक मकान में डाका डाला। बदमाशों ने परिवार के तीन लोगों की हत्या कर दी, जबकि तीन लोग जिंदगी और मौत से जूझ रहे हैं। बदमाश डाका डालने के दौरान लाखों रुपए के नगदी जेवरात लूटकर ले कर भाग गए। सूचना मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंची, लेकिन लोगों ने शव को उठाने से रोक दिया। हालात बिगड़ते देख डीएम और एसएसपी भी मौके पर पहुंच गए हैं और लोगों को शांत करवाने की कोशिश की जा रही है। पुलिस के मुताबिक लूट-पाट की घटना को अंजाम देने के लिए हत्या की गई है। तीनों शवों को चारपाई से बांधकर सरिया से मारकर हत्या की गई है। शक की सुई बावरिया गैंग की तरफ घूम रही है।
loading...
Loading...

Related Articles