Main Sliderउत्तर प्रदेश

अमित शाह का दो दिवसीय यूपी दौरा 4 जुलाई से

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह 4 जुलाई को वाराणसी और मिर्ज़ापुर में पार्टी नेताओं से मिलकर 2019 में होने वाले लोकसभा चुनावों की तैंयारियों का टेस्ट लेने के लिए दो दिनों के यूपी दौरे पर आयेंगें। अमित शाह इसके बाद 5 जुलाई को आगरा जाकर पश्चिमी यूपी के बीजेपी नेताओं की तैयारी का जायज़ा लेंगे।

बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी के संभावित गठबंधन को लेकर बीजेपी ने अपनी रणनीति में बदलाव किया है। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हाल में ही दिल्ली जाकर संघ के बड़े नेताओं से बातचीत की थी। यूपी में लोकसभा की 80 सीटें दांव पर हैं। साल 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी और उसकी सहयोगी पार्टियों को 73 सीटें मिली थीं।

अब तक मिली जानकारी के मुताबिक़, अमित शाह चार जुलाई को वाराणसी पहुंचेंगे। यहां से वे सीधे मिर्ज़ापुर जाएंगे। हाल ही में तीन क्षेत्रों के संगठन मंत्रियों को बदला गया था। अमित शाह फिर पार्टी के विस्तारों के साथ बैठक करेंगे।

बीजेपी अध्यक्ष जानना चाहते हैं कि लोकसभा चुनाव को लेकर क्या होमवर्क किया गया है। उस इलाक़े के एक-एक विधायक और सांसद के रिपोर्ट कार्ड पर चर्चा होगी। लोकसभा चुनाव को लेकर बीजेपी ने विस्तारकों की ड्यूटी लगा रखी है। ये संगठन के पूर्णकालिक कार्यकर्ता होते हैं. यूपी में पार्टी के 163 विस्तारक हैं।

पश्चिमी यूपी के बीजेपी नेताओं की बैठक आगरा में होगी. पार्टी अध्यक्ष अमित शाह पांच जुलाई को इन सबको आगे की चुनावी रणनीति के बारे में बताएंगे। वे सबका रिपोर्ट कार्ड भी लेंगे। यहां उनकी बैठक ब्रज, पश्चिम और कानपुर क्षेत्र के नेताओं के साथ होगी। आईटी सेल के लोगों के साथ शाह अलग से मिलेंगे।

मोदी और योगी सरकार के काम काज को सोशल मीडिया के ज़रिए आम लोगों तक कैसे पहुंचाया जाए, इस पर विस्तार से चर्चा होगी। संघ ने यूपी के लिए दलितों और पिछड़े नेताओं को साथ लेकर चलने को कहा है।

loading...
Loading...

Related Articles