उत्तर प्रदेश

भदोही में बारिश के लिए अदा की गई विशेष नमाज के बाद हुई हल्की बारिश

भदोही। उत्तम प्रदेश के भदोही जिले में मानसून की बेरुखी से किसान और आम लोग परेशान हैं। आसमन से बादलों की रहमत बरसाने के लिए रविवार को भी विशेष नमाज के दौरान भी ऐसा ही कुछ कालीन नगरी भदोही के आसमानी फिजा में नजर आया। जहां नमाज के बाद आसमान में काले काले मेघ उमड़ने लगे और कुछ क्षेत्रों में ठंडी हवाओं के साथ हल्की बारिश भी हुईं।
कहते हैं दुआओं में बड़ी ताकत होती है। ऊपर वाले से की गई दुआएं अपना असर अवश्य दिखाती हैं।
देश के कुछ हिस्सों में बारिश कहर परपा रही है, जबकि कालीन नगरी समेत आसपास के जिलों में सूखे जैसे हालत बने हुए हैं। रुठे काले मेघों को मनाने के लिए रविवार को कालीन नगरी के मोमिनों ने विशेष नमाज पढ़ी। इस दौरान आधे घंटे तक तीखी धूप में खड़े होकर करीब एक हजार की तादात में लोगों ने दुआख्वानी की, जिसका असर दोपहर बाद दिखा भी और आकाश में कालीपट्टी नजर आई।
मौसम विभाग के अनुमान को मानसून ने इस साल पूरी तरह से गलत साबित कर दिया। देर से काले मेघों के आने तथा झमाझम बारिश करने के दावे को पिछले एक पखवारे से पड़ रही भीषण गर्मी ने धता बता दिया है। खेतों से उड़ रही धूल अन्नदाताओं के माथे पर बल ला रही है। धान समेत अन्य खरीफ फसलों की बोआई व छीटाई बाधित है। जबकि आम आदमी तीखी धूप, लू से बेहाल है। रुठे काले मेघों को मनाने का लोग प्रयास करने लगे हैं। इसी कड़ी में पूर्व घोषित कार्यक्रम के अनुसार शहर के काजीपुर स्थित फकीर सेठ के अहाते में शहर के करीब एक हजार मोमिन एकत्रित हुए।
इस दौरान कारी नजीर ने बरसात के लिए विशेष नमाज 15 मिनट तक पढ़ाई। इसके बाद तीखी धूप में आधे घंटे तक खड़े होकर लोगों ने रो रोकर बरसात के लिए अल्लाह से दुआएं मांगी। कारी शमसुद्दीन ने बताया कि वर्षों पहले ऐसा ही मंजर मक्का में आया था। उस दौरान लोगों ने एक मैदान में खडे़ होकर नमाज पढ़कर अल्लाह से गुनाहों की माफी मांगी थी। जिसके बाद कहर समाप्त हो गया था।

loading...
=>

Related Articles