हाथरस

गर्भवती महिलाओं को नहीं मिली 102 एम्बुलेंस, टेम्पो में हुआ प्रसव

हाथरस। उत्तर प्रदेश में एम्बुलेंस ड्राइवरों की मनमानी के चलते इसका खामियाजा मरीजों को उठाना पड़ रहा है। जिम्मेदारों की फटकार के बावजूद ड्राइवर सुधरने से बाज नहीं आ रहे हैं। ताजा मामला यूपी के हाथरस जिला का है। यहां जिला महिला अस्पताल में स्वास्थ विभाग ​की लापरवाही का बड़ा मामला सामने आया है।

बताया जा रहा है कि दो महिलाओं को प्रसव पीड़ा होने पर परिजनों ने 102 एम्बुलेंस पर कॉल की लेकिन गर्भवती महिलाओं को एम्बुलेंस नहीं मिली। इसके बाद 108 एम्बुलेंस सेवा से भी कोई मदद नहीं मिली। नतीजन परिजन गर्भवती महिलाओं को टेम्पो से जिला महिला अस्पताल लेकर गए। यहां रास्ते में ही प्रसव पीड़ा से तड़प रही दोनों महिलाओं ने जिला महिला अस्पताल के गेट पर टेम्पो में ही दोनों बच्चों को जन्म दे दिया।

जानकारी के मुताबिक, मामला कोतवाली क्षेत्र के रहना गांव का है। यहां के निवासी गुलफान अपनी गर्भवती पत्नी शबनम को प्रसव के लिए जिला अस्पताल ले जाने के लिए लगातार 102 और 108 एम्बुलेंस पर कॉल करता रहा लेकिन उसको एम्बुलेंस सेवा नहीं मिली। जिसके बाद गुलफान अपनी पत्नी शबनम को टेम्पो से जिला महिला अस्पताल लेकर पंहुचा। तो शबनम ने स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के चलते टेम्पो में ही बच्चे को जन्म दे दिया।

वहीं दूसरा मामला हाथरस जिले के थाना कोतवाली हाथरस जक्शन क्षेत्र के गांव औंदुआ निवासी सतेंद्र पत्नी पूजा देवी का है। सतेंद्र ने भी अपनी गर्भवती पत्नी को प्रसव के लिए जिला महिला अस्पताल को ले जाने के लिए 108 और 102 एम्बुलेंस पर बार बार कॉल किया। लेकिन सतेंद्र की पत्नी पूजा देवी को भी एम्बुलेंस की स्वास्थ्य सेवा नहीं मिली। सतेंद्र जैसे तैसे अपनी पत्नी को प्रसव पीड़ा के दौरान टेम्पो के जरिये जिला महिला अस्पताल लेकर पंहुचा तो। सतेंद्र और उसके परिजन 15 से 20 मिनट तक हॉस्पिटल के गेट पर टेम्पो में प्रसव पीड़ा को झेल रही पूजा देवी डॉक्टरों द्वारा स्टेचर लाने का इंतजार करती रही लेकिन मदद नहीं मिली।

जब पूजा देवी के टेम्पो में बच्चा पैदा हो गया तो जिला महिला अस्पताल में तैनात डॉक्टरों नर्स वाहवाही लूटने के लिए पूजा देवी पंहुच गए। जब इन दोनों मामलो पर महिला अस्पताल के CMS रूपेंद्र गोयल से बात की गयी तो उन्होंने अपने ऊपर से पलड़ा झड़ते हुए सारी की सारी कमी परिजनों और एम्बुलेंस चालकों की बता दी। वह हाथरस जिले के स्वास्थ्य विभाग इस दौरान इन दोनों नवजात मासूम बच्चो या इनको जन्म देने वाली महिलाओ के साथ कुछ भी अनहोनी हो जाती तो इसका जिम्बेदार कौन होता।

loading...

Related Articles

WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com