उत्तर प्रदेश

सोनभद्र में स्थापित होगी सोलर लैम्प बनाने की कम्पनी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ग्रामीण अंचलों की महिलाओं के सशक्तिकरण व उन्हें आर्थिक रूप से मजबूती प्रदान करने के लिए स्वयं सहायता समूहों के जरिए स्वरोजगार उपलब्ध कराएगी। इसके लिए राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत स्वयं सहायता समूहों की मद्द से उ.प्र. में सोलर लैम्प बनाने की पहली कम्पनी सोनभद्र में स्थापित की जायेगी। इससे आस-पास के स्वयं सहायता समूहों से जुड़ी महिलाओं की रोजगार के साथ ही आमदनी भी बढ़ेगी। यह बात उत्तर प्रदेश के ग्राम्य विकास राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डा. महेन्द्र सिंह ने आईपीएन से बातचीत में कही।
राज्यमंत्री ने कहा कि महिलाएं आज के दौर में किसी से पीछे नहीं है और जीवन के हर क्षेत्र में कंधे से कंधा मिलाकर आगे बढ़ रही हैं। केन्द्र व राज्य सरकार महिला सशक्तिकरण के लिए विभिन्न योजनाएं संचालित कर रही हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश की सरकार महिलाओं को समर्थ बनाने के लिए विभिन्न योजनाओं में उनकी उपस्थिति दर्ज करा रही है। यही नहीं घरों से निकलकर अपनी दिनचर्या के जरूरी कामों के साथ ही महिला स्वयं सहायता समूहों से जुड़कर अपनी गृहस्थी चला रही है।
ग्राम्य विकास मंत्री ने कहा कि इसके साथ ही बुन्देलखण्ड जैसे पिछड़े क्षेत्र की महिलाओं को आर्थिक रूप से सुदृढ़ बनाने के लिए डेरी की स्थापना की जायेगी और इसका संचालन महिलाएं करेंगी। उन्होंने कहा कि 70 लाख सोलर लैम्प वितरित करने का लक्ष्य रखा गया है और अब तक 3.70 लाख लैम्प बच्चों को वितरित किया जा चुका है।

loading...
Loading...

Related Articles