सेंट फ्रांसिस स्कूल में बच्चे की मौत के मामले पुलिस को ग्रामीणों ने घेरा

कुशीनगर। कुशीनगर जनपद के टेकुआटार के सेंट फ्रांसिस स्कूल में बच्चे की मौत के मामले की जांच करने उसके गांव चेंगवना पहुंची रामकोला पुलिस शुक्रवार को बुरी तरह फंस गई। पुलिस पर कार्रवाई न करने का गंभीर आरोप लगाते हुए ग्रामीणों ने एसओ राहुल सिंह सहित पूटी टीम को घेर लिया। इस दौरान महिलाएं उग्र हो गईं और पुलिस एवं प्रशासन पर गंभीर आरोप मढ़ने लगीं। करीब आधे घंटे बाद जाकर मामला संभला।
शुक्रवार को जब रामकोला एसओ अपनी टीम के साथ गांव में जांच करने पहुंचे तो ग्रामीण एसडीएम के आश्वासन का हवाला देकर पुलिस पर आरोपितों को संरक्षण देने का आरोप लगाने लगे। इस दौरान महिलाएं उग्र हो गई थीं। पुलिस और प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाए जाने से मामला गरमा गया था। लेकिन एसओ लोगों को कार्रवाई का आश्वासन देकर समझाने में लगे रहे। करीब आधे घंटे बाद गांव के ही कुछ लोगों ने बीच-बचाव कर ग्रामीणों को समझाया। पुलिस को भी निष्पक्ष कार्रवाई की सलाह दी। काफी मान-मनौव्वल के बाद ग्रामीण माने और तब जाकर पुलिस टीम आगे बढ़ सकी।
उधर स्कूल में बच्चे की मौत के बाद ग्रामीणों ने शुक्रवार को गोबरही चौराहे पर शव रखकर घंटों सड़क जाम किया था। मौके पर पहुंचे कसया एसडीएम प्रमोद कुमार तिवारी ने आरोपितों की 24 घंटे के अंदर गिरफ्तारी और मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष से दस लाख रुपए की सहायता दिलाने का आश्वासन देकर जाम समाप्त कराया था।
इस मामले में रामकोला पुलिस ने मृत बच्चे के दादा अंबिका सिंह की तहरीर पर स्कूल के प्रबंधक, सह प्रबंधक व प्रधानाचार्य के विरुद्ध गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज कर लियाहै।
इस पर राहुल सिंह एसओ-रामकोला का कहना है कि पुलिस मामले की जांच के सिलसिले में चेंगवना गांव गई थी। ग्रामीणों ने अपनी बात रखी। पुलिस के घेराव जैसी कोई बात नहीं है। पुलिस मामले में कार्रवाई कर रही है।

=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper