बहराइच: कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय की बीमार छात्रा से दुष्कर्म


बहराइच। उत्तर प्रदेश के बहराइच जिला में कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालयों में यौन उत्पीड़न का मामला सामने आने से हड़कंप मच गया है। बताया जा रहा है कि यहां पढ़ने वाली छात्रा को एक महिला अपने साथ ले गई और अपने रिश्तेदार के हाथ सौंप दिया। आरोप है कि रिश्तेदार ने नाबालिग के साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया और मौके से फरार हो गया। किशोरी किसी तरह अस्त-व्यस्त हालत में अपने घर पहुंची और पूरी घटना घरवालों को बताई तो उसके घरवालों के पैरों तले जमीन खिसक गई। घटना का खुलासा होने के बाद विद्यालय और पुलिस महकमें में हड़कंप मचा हुआ है। हालांकि पुलिस और विद्यालय ने मामले को मीडिया से छुपाये रखा। मामला उजागर होने के बाद अब जिम्मेदार मीडिया के कैमरे के सामने आने से कतरा रहे हैं।

आरोपी ने रास्ते में किशोरी से किया दुष्कर्म
जानकारी के मुताबिक, जिला के कैसरगंज कोतवाली क्षेत्र में कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय स्थित है। यहां कक्षा 7 में पढ़ने वाली 13 वर्षीय छात्रा बीमार चल रही है। आरोप है कि कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय के लोगों ने बीमार छात्रा को किसी अंजान महिला के साथ इलाज करवाने के लिए भेज दिया। इस महिला ने छात्रा को अपने भांजे के साथ इलाज के लिए भेज दिया। भांजे ने रास्ते में मौका मिलते ही किशोरी के साथ मुंह काला करते हुए दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दे डाला। आरोप है कि घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी किशोरी को बेहोशी हालत में छोड़कर फरार हो गया। लोगों ने छात्रा को इस हाल में देख इसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने छात्रा को अस्पताल में भर्ती कराया है। पुलिस और विद्यालय प्रशासन ने घटना को दबाने के लिए किशोरी को मीडिया से दूर रखा है। फिलहाल पुलिस इस पूरे मामले की पड़ताल कर आगे की कार्रवाई कर रही है।

इससे पहले भी कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय पर लग चुके दाग
कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय में हुई ये घटना कोई पहली नहीं है। इससे पहले 5 जून 2017 को हरदोई जिला के कोतवाली शाहाबाद क्षेत्र की केजीबी विद्यालय में छात्राओं को प्रलोभन देकर सेक्स धंधे में बढ़ावा देने का मामला सामने आया था। वहीं बेनीगंज थाने में भी एक कस्तूरबा गांधी विद्यालय में चल रहे सेक्स रैकेट का भांडाफोड़ हुआ था। इस पूरे खेल से शिक्षा विभाग में हड़कंप मच गया था। इस केस में एक अंशकालीन अध्यापक और सहायक रसोइया की करतूत के खुलासे के बाद डीएम ने संज्ञान लेते हुए एफआईआर दर्ज कराने के आदेश दिए थे। जबकि बेनीगंज में खंड शिक्षा अधिकारी ने मुकदमा दर्ज कराया था।

=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper