बिहार

देश में दम तोड़ रहीं शिक्षा व्यवस्था के खिलाफ आक्रोश मार्च

पटना ( अ सं ) । 09 अगस्त 2017 को क्रांति दिवस के अवसर पर छात्र -नौजवानों के तमाम सवालों (शिक्षा-रोजगार आदि) को लेकर पटना जिला अधिकारी (डीएम) के समक्ष सीपीआई फुलवारीशरीफ इकाई व ए०आई०एस०एफ०,ए०आई०वाई०एफ० के तत्वाधान में संजयुक्त रूप से आक्रोशपूर्ण प्रदर्शन किया गया ,मार्च गाँधीमैदान ,पटना (बड़ी गाँधी मूर्ति के पास) से चलकर पटना समाहरणालय ,डीएम के समक्ष आंदोलनकारियों ने अपना आक्रोश व्यक्त किया, प्रदर्शनकारियों के आक्रोश को देखते हुए जिलाधिकारी ने तत्काल 7 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल बुला कर तमाम मसलों पर वार्ता की।

वार्ता में सीपीआई के जिला मंत्री राम लाला सिंह,फुलवारीशरीफ के युवा नेता विनोद कुमार, ए०आई०एस०एफ़० के राज्य सचिव सुशील कुमार , राज्य उपाध्यक्ष सुशील उमाराज,ए०आई०वाई०एफ़० के युवा नेता सोनू कुमार,बबलू,अजय कुमार शामिल थे। वार्ता के दौरान डीएम ने शिक्षा-रोजगार के मसले पर त्वरित काम करने की बात कही। उन्होंने यह भी कहा कि छात्रों पर आंदोलन के दौरान जो भी एफ़०आई०आर किया गया है उसे वापस ले लिया जाएगा एवम आपकी अन्य सभी मांगों को ऊपर के अधिकारियों को अग्रसारित कर दिया जाएगा। नेत्रहीन छात्रों व उनके होस्टलों के मसले पर कल्याण विभाग को अवगत कराते हुए उस पर काम करने की बात कही। प्रदर्शन के बाद एक सभा का आयोजन भी किया गया,इस दौरान सिविल कोर्ट के अधिवक्ता सह सीपीआई के युवा नेता महेश रजक ,सैफ,सुभाष पासवान,वशिष्ठ,अर्जुन राम ,बिट्टू आदि सैंकड़ों छात्र-युवा,व सीपीआई के पार्टी सदस्य शामिल रहे।

loading...
Loading...

Related Articles