पटनाबिहार

सिरफिरे आशिक ने दुल्हे को साथियों संग मारा था 6 गोलियां ,गिरफ्तार

 -शादी नहीं करने के लिए दो बार मोबाइल पर अमित को मिला था धमकी
– प्रेमिका की मिलीभगत से आशिक राज कुमार उर्फ छोटू ने दिया था घटना को अंजाम
 -गिरफ्तार राजकुमार ,जिलाधिकारी का बताया जाता है रिश्तेदार

पटना ( अ सं ) । अमित कुमार दुल्हा बना था ,सिर पर शेहरा था, शादी समारोह में रिश्तेदार और दोस्त जुटे थे , की अचानक सूचना मिली की अज्ञात अपराधियों ने दुल्हे की हत्या की नियत से शरीर में 6 गोलियां मार दिया । यह खबर ,रंग में भंग डाल दिया ,और जख्मी दुल्हे अमित को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया । एसएसपी मनु महाराज ने मामले के खुलासे को लिए पुलिस टीम गठित किया । मंगलवार को पुलिस टीम ने घटना में शामिल सिरफिरे आशिक राजकुमार को गिरफ्तार कर लिया हैं । इसके बाद पुलिस ने चौंकाने वाला खुलासा हुआ हैं ।
घटना बीते 10 जुलाई 2018 की है।राजधानी पटना के गर्दनीबाग थाना स्थित मगध कालोनी ,स्थित आर के बालिका मैरेज हॉल, हसनपुरा (बेऊर) के पास ,मोटरसाइकिल पर सवार अज्ञात अपराधियों ने दुल्हे अमित कुमार को हत्या की नियत से 6 गोलियां मार दिया । इस घटना के बाद राजधानी में सनसनी फैल गयी और सुरक्षा -व्यवस्था पर सवाल खड़ा हो गया था।
उक्त ब्लाइंड केस को सुलझाना पुलिस के लिए एक बड़ी चुनौती थीं । एसएसपी मनु महाराज ने मामले का खुलासा और घटना में शामिल अपराधियों के गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम गठित किया । अनुसंधान के क्रम में पुलिस टीम ने घायल अमित कुमार एवं अन्य से पूछताछ किया । कुछ सुराग हाथ लगा, इसके बाद तकनीकी अनुसंधान में सारा मामला खुल गया । कॉल डिटेल ने घटना के रहस्य पर से पर्दा उठा दिया ।
शादी के पूर्व जख्मी अमित को उक्त लड़की (दुल्हन) से शादी नहीं करने को लेकर दो बार धमकी मोबाइल पर दिया गया था लेकिन अमित नहीं माना । इसके बाद दुल्हन का आशिक राजकुमार उर्फ छोटू ने अज्ञात अपराधियों को हायर कर, मौजूदगी में दुल्हा अमित को 6 गोलियां मार/मरवा दिया । जांच के क्रम में यह खुलासा हुआ है की सिरफिरे आशिक राजकुमार ने दुल्हन बनी प्रेमिका से मिलकर घटना को अंजाम दिया /दिलवाया था।
पुलिस ने सिरफिरे आशिक राजकुमार कुमार उर्फ छोटू को गिरफ्तार कर लिया हैं । राजकुमार ,गर्दनीबाग थाना क्षेत्र के भीखाचक निवासी धीरेन्द्र सिंह का पुत्र हैं । गिरफ्तार राजकुमार का बहनोई दूसरे राज्य नें जिलाधिकारी हैं । इनका पहचान भी पटना पुलिस के आगे नहीं चल सका।

loading...
Loading...

Related Articles