Saturday, November 27, 2021 at 2:24 AM

पूर्व प्रमुख सचिव गृह का फर्जी वाट्सएप प्रोफाइल बनाकर ठगी का प्रयास

लखनऊ। साइबर ठगों ने पूर्व प्रमुख सचिव, गृह आरएम श्रीवास्तव (अब सेवानिवृत्त) को भी अपना निशाना बनाया है। उनके नाम से फर्जी वाट्सएप प्रोफाइल बनाकर ठगी का प्रयास किया जा रहा है। इसकी भनक लगने पर आरएम श्रीवास्तव ने लखनऊ व चेन्नई पुलिस की साइबर सेल में मामले की शिकायत की है।साइबर ठग आरएम श्रीवास्तव के नाम से उनके परिचितों को वाट्सएप पर संदेश भेज रहे थे, जिनमें कहा जा रहा था कि मैं शहर से बाहर हूं और तत्काल कुछ रुपये की सख्त जरूरत है।
साइबर ठग संदेश में अलग-अलग रकम का जिक्र कर आरएम श्रीवास्तव के परिचितों से वह रकम एक खाते में जमा करवाने का प्रयास कर रहे थे। सेवानिवृत्त आइएएस अधिकारी आरएम श्रीवास्तव का कहना है कि यह षड्यंत्र बुधवार रात हुआ। गुरुवार सुबह एक परिचित का फोन आने पर उन्हें इसकी जानकारी हुई। तब उन्होंने पुलिस से शिकायत की। उनका कहना है कि साइबर ठग उनके किसी परिचित से रकम नहीं वसूल सके हैं। बताया गया कि जिस नंबर से वाट्सएप की फेक प्रोफाइल बनाई गई है, वह तमिलनाडु का है।
इसी आधार पर चेन्नई पुलिस की साइबर सेल से भी शिकायत की गई है। एडीजी साइबर क्राइम राम कुमार का कहना है कि सेवानिवृत्त आइएएस अधिकारी का फेक वाट्सएप प्रोफाइल बनाकर ठगी के प्रयास का मामला संज्ञान में आया है। पूर्व में ऐसी कुछ अन्य शिकायतें भी आई हैं। मामले की जांच कराई जा रही है। उल्लेखनीय है कि बीते दिनों प्रमुख सचिव आरके तिवारी का फर्जी फेसबुक अकाउंट बनाकर इसी तरह ठगी का प्रयास किया गया था। साइबर क्राइम सेल व एसटीएफ की संयुक्त टीम ने अक्टूबर 2020 में दो साइबर अपराधियों को मथुरा से गिरफ्तार किया था।