रोहतास । छोटे स्कूली बच्चों के समग्र विकास एवं बुनियादी शिक्षा उपलब्ध कराने को लेकर निपुण भारत मिशन जिले के प्राइमरी स्कूलों में लागू किए जाने की कवायद शुरू हो गई है। कक्षा तीन में पढ़ने वाले बच्चों में भाषा व गणित में दक्षता बढ़ाने के लिए जिले में मिशन निपुण कार्यक्रम चलाया जाएगा। सभी गतिविधियों को संचालित करने के लिए प्रखंड एफएलएन प्रबंध इकाई गठित करने का निर्देश दिया है। सौ दिन का कार्ययोजना तैयार कर इस कार्य प्रारंभ किया जाएगा। इससे तीन से आठ वर्ष के बीच बच्चों को बुनियादी साक्षरता व संख्या के तहत निर्धारित कक्षा तीन की भाषा व गणित की दक्षता को प्राप्त करने में सहूलियत मिलेगी। इस कार्यक्रम के तहत आने वाले समय में सरकारी स्कूलों के तीसरी कक्षा तक के बच्चे की पढ़ाई, लिखाई और अंकों के ज्ञान में निपुणता हासिल कर सकेंगे।

डीपीओ राघवेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि बच्चों के दिमाग को विकसित करने के लिए तीन विकास लक्ष्यों में बांट कर इसे लागू किया जाएगा। जिसमें स्वास्थ्य व कल्याण, प्रभावी संवाद तथा सहभागी शिक्षार्थी के आधार पर बच्चों में शिक्षा का विकास हो सकेगा। बीईओ को एक सप्ताह के अंदर प्रखंड एफएलएन कार्यक्रम प्रबंधन समिति गठित करने का निर्देश दिया गया है। प्रखंडस्तरीय समिति में बीडीओ पदेन अध्यक्ष व बीईओ पदेन सचिव होंगे जबकि सीडीपीओ, बीईओ द्वारा नामित एक प्रधानाध्यापक तथा प्राथमिक विद्यालय के एक शिक्षक सदस्य होंगे। बच्चों को ग्रेड दो तक 45 से 60 शब्द प्रति मिनट पढ़ना, ग्रेड तीन में 60 शब्द प्रति मिनट पढ़ना।