burn to death

छात्रों के लिए बेहतर विकल्प है

सिवान।  इंजीनियरिग एवं टेक्निकल इंस्टीच्यूट में आयोजित समारोह में गुरुवार को जयप्रकाश विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. फारूक अली उपस्थित हुए। इस दौरान उन्होंने कालेज में सभी विभागों में उनका भ्रमण किया। सभी विभागों के प्रयोगशाला, कक्षा का भ्रमण करने के बाद बहुत उत्साहित हुए। उन्होंने कालेज की प्रशंसा की। कहा कि यह कालेज जिले का धरोहर है। तकनीकी शिक्षा के रूप में यह छात्रों के लिए बेहतर विकल्प है। इस्लामिया एजुकेशनल एंड सोशल वेलफेयर ट्रस्ट की प्रेसिडेंट हेना शहाब ने कहाकि कालेज 2004 से स्थापित है। जहां बीटेक एवं एमबीए की पढ़ाई होती है। सिवान के छात्रों के साथ साथ आसपास के जिलों के छात्र भी यहां पढ़ाई के लिए आते हैं। वहीं ट्रस्ट के सचिव अंसर अमीन नोमानी ने सबका धन्यवाद ज्ञापन किया। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के प्रोफेसर डा. सरफराज, डीएवी कालेज के प्रोफेसर डा. रमानंद पांडेय, डा. सीडी चौधरी, डा. ओबैदुल्लाह प्रवक्ता के रूप में उपस्थित थे। कार्यक्रम में ट्रस्ट के सदस्य डा. जाबेद इकबाल एवं फजल साहब ने कुलपति के आगमन पर उनका आभार प्रकट किया। मौके पर मो.एन, डॉ. प्राचार्य हरेराम झा,डॉ. असरार अहमद, डॉ. उपेंद्र सिंह सहित सभी शिक्षक व छात्र उपस्थित थे।

स्थित राजकीय मध्य विद्यालय के बाल संसद की संयोजक शिक्षिका मीना देवी के साथ बाल संसद सदस्यों ने गुरुवार को ”रोजाना स्कूल जाना है” नारों के साथ पोषक क्षेत्र का भ्रमण कर अभिभावकों को अपने बच्चों को विद्यालय भेजने के लिए जागरूक किया। बाल संसद की टीम ने पतार पूर्वी भाग महादलित बस्ती का भ्रमण किया तथा स्कूल में नामांकित बच्चों के अभिभावक से मिलकर बच्चों को रोजाना स्कूल भेजने के लिए जागरूक किया।

See also  अलग-अलग जगहों पर हुई अगलगी में लाखों की क्षति