Monday, December 6, 2021 at 4:02 AM

वृंदावन में शरद पूर्णिमा के अवसर पर हुआ भंडारे का आयोजन

वैसे तो ब्रज में प्रतिदिन कोई ना कोई महोत्सव का आयोजन होता ही रहता है। माना जाता है कि 365 दिनों में 400 से भी अधिक महोत्सव मंदिरों में मनाये जाते हैं। आज शरद पूर्णिमा के पावन अवसर पर भक्तों द्वारा जमकर श्री धाम वृंदावन की परिक्रमा लगाई गई। वही समाजसेवियों द्वारा जगह जगह परिक्रमार्थियों के लिए जल सेवा एवं प्रसाद सेवा का भी आयोजन किया गया। इसी क्रम में श्री मुकुंद चौरिटेबल ट्रस्ट के तत्वाधान में श्री धाम वृंदावन के केसी घाट पर प्रसाद सेवा का आयोजन किया गया। जिसमें परिक्रमार्थियों को पूड़ी सब्जी एवं खीर का वितरण किया गया। कार्यक्रम की जानकारी देते हुए ट्रस्ट के चेयरमैन विनोद कुमार शुक्ला ने बताया कि हमारे सनातन धर्म में कार्तिक मास का विशेष महत्व है। इस महीने में जो भी दान, पुण्य, पूजा आदि धार्मिक कार्यक्रम किए जाते हैं, उसका हजारों गुना बढ़कर फल प्राप्त होता है। इसी कारण से ज्यादा से ज्यादा लोग वृंदावन की परिक्रमा भी प्रतिदिन नियम से लगाते हैं। स्कंद पुराण में कार्तिक मास का विशेष वर्णन मौजूद है। परिक्रमार्थियों के लिए आज प्रसाद सेवा का आयोजन किया गया। जिसमें विशेष रुप से खीर भक्तों को प्रसाद के रूप में दी गई है। शरद पूर्णिमा पर ठाकुर जी को भी खीर का भोग लगाया जाता है। ठाकुर जी का भोग लगाने के बाद अमृत रूपी खीर सभी भक्तों को वितरित किया गया। इस माह में अन्न दान का बड़ा ही महत्व है।
सभी को इस महीने में कुछ न कुछ दान पुण्य जरूर करना चाहिए। जसराना समय-समय पर बहुत सी सेवाएं की जाती है जिनमें वृद्ध लोगों को नेत्र परीक्षण के बाद चश्मा वितरण, विकलांग व्यक्तियों को वैशाखी, ट्राई साइकिल एवं श्रवण यंत्र भी वितरित किए जाते हैं।