Main

Today's Paper

Today's Paper

नाबालिग से दुष्कर्म में दोषी को आजीवन कारावास, 20-20 हजार रुपये का अर्थदंड

जहानाबाद। स्थानीय व्यवहार न्यायालय के एडीजे छह सह पॉक्सो के विशेष न्यायाधीश मनोज कुमार राय ने नाबालिग से दुष्कर्म के दोषी को सजा सुनाई। दोषी सत्येंद्र बिद को भादवि की धारा 376 तथा पॉक्सो की धारा चार के तहत आजीवन कारावास का फैसला सुनाया।

न्यायालय ने दोनों धाराओं में 20-20 हजार रुपये का अर्थदंड भी लगाया है। अर्थदंड की राशि का भुगतान नहीं करने पर आरोपी को क्रमश: एक-एक साल अतिरिक्त कारावास भुगतना होगा। न्यायालय ने अपने महत्वपूर्ण फैसले में जिला विधिक सेवा प्राधिकार को चार लाख रुपये पीड़िता को मुआवजे के तौर पर देने का भी निर्देश दिया है। इसकी जानकारी पॉक्सो के विशेष लोक अभियोजक मुकेश कुमार ने दी।

उन्होंने बताया कि इस मामले में पीड़िता के पिता ने जहानाबाद महिला थाने में सत्येंद्र बिद को नामजद करते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई थी। प्राथमिकी में पिता ने आरोप लगाया था कि पांच मार्च 2019 को बेटी घर के समीप स्थित चापाकल से पानी लाने गई थी। करीब एक घंटे के बाद वह रोती हुई घर वापस पहुंची। उसने आपबीती सुनाई। सत्येंद्र बिद का नाम उसने बताया। मामले में अभियोजन की तरफ से पांच लोगों की गवाही हुई। 11 दस्तावेजों को भी कोर्ट के सामने प्रस्तुत किया था। सभी बिंदुओं पर विचार करते हुए कोर्ट ने फैसला सुनाया। मामले में दो साल बाद आया फैसला

पांच मार्च 2019 की घटना में दो वर्ष बाद फैसला आया। पुलिस ने घटना के बाद केस दर्ज कर आरोपित को गिरफ्तार कर लिया। कई बार तारीख पर तारीख मिली। पीड़िता के पिता ने बताया कि न्याय की जीत हुई है।

Share this story