Main

Today's Paper

Today's Paper

मानसिक रूप से विक्षिप्त मैथिली भाषी युवती पहुंची केरला

यूवती
जिला जज ने सभी मीडिया संस्थानों को पत्र लिखकर की पुनर्वास में सहयोग करने की 

कैमूर। मानसिक रूप से विक्षिप्त मैथिली भाषी यूवती यत्र- तत्र होते हुए केरल में पहुंची। जहां राज्य विधिक सेवा प्राधिकार केरला एवं पैनल अधिवक्ता तथा जिला विधिक सेवा प्राधिकार की पहल पर उसका इलाज तिरुअनंतपुरम मेडिकल कॉलेज में हुआ। इस दौरान चिकित्सकों ने उसकी गर्भवती होने की पुष्टि की है। इस आशय का पत्र जारी करते हुए जिला विधिक सेवा प्राधिकार के अध्यक्ष सह जिला एवं सत्र न्यायाधीश कैमूर संपूर्णानंद तिवारी ने बताया कि लिलमों कुमारी द्वारा मैथिली भाषा बोलने की पुष्टि हुई है।

जो आमतौर पर बिहार और झारखंड प्रदेश में बोला जाता है। इसलिए उसके पुनर्वास हेतु राज्य विधिक सेवा प्राधिकार पटना के माध्यम से सभी जिले के जिला विधिक सेवा प्राधिकार को व्यापक प्रचार प्रसार करने एवं उसके बारे में सूचना मिलने पर जिला विधिक सेवा प्राधिकार को उपलब्ध कराने का आग्रह किया गया है।

जिसे पुनर्वासित करने में सहयोग मिल सके। इस पत्र को प्राप्त होते ही जिला जज ने सभी मीडिया संस्थानों को भी पत्र के माध्यम से आवश्यक प्रचार-प्रसार करते हुए सूचना प्राप्त होने पर जिला विधिक सेवा प्राधिकार को सूचित करने की अपील की है। मगर हैरतअंगेज बात यह है कि मानसिक रूप से विक्षिप्त युवती को दरिंदों ने नहीं बख्शा और उसके साथ मुंह काला कर गर्भवती कर दिया है।

Share this story