Main

Today's Paper

Today's Paper

कैमूर के पर्वतीय प्रखंड अधौरा में करोना बम फूटने की संभावना हुई प्रबल

करोना बम

भभुआ, कैमूर। अधौरा में करोना बम फूटने की संभावना प्रबल हो गई है। इसका मुख्य वजह यह है कि प्रखंड मुख्यालय अधौरा में तैनात मजिस्ट्रेट बतौर प्रखंड विकास पदाधिकारी आलोक कुमार शर्मा की घोर लापरवाही उजागर हुई। जो अधौरावासियों के साथ मास्क रहते भी उठक-बैठक के साथ लाठी भांजने में विख्यात थे, किंतु इस पूरे प्रकरण में उनकी मौन धारण करना चर्चा का विषय बना हुआ है।

बता दें कि रविवार को जिला एवं सत्र न्यायाधीश कैमूर के ड्राइवर मनोहर खरवार की मौत कोरोना पॉजिटिव होने के पश्चात इलाज के दौरान सदर अस्पताल भभुआ में हो गई थी।

जिसके बाद परिजनों की मांग पर उसकी शव को प्लास्टिक पैक में उसके पैतृक गांव अधौरा भेज दिया गया। तत्पश्चात परिजनों ने शव को प्लास्टिक पैक से निकालकर आम शवों की तरह नहला- धुला कर विधिवत कफ़न पहनाकर श्मशान घाट पर ले गए। जहां प्रखंड प्रमुख विपिन कुमार सिंह, मुखिया नूरशीद आलम, शिक्षक महादेव यादव पारा मेडिकल वर्कर उमाशंकर प्रजापति सहित सैकड़ों लोगों की उपस्थिति में शव का दाह संस्कार किया गया।

इसी सिलसिले में सोमवार को अधौरा ग्राम निवासी विपिन यादव की मौत सदर अस्पताल भभुआ में इलाज के दौरान हो गई, जो कोरोना संक्रमित बताए जाते हैं।

Share this story