Main

Today's Paper

Today's Paper

बीएसएफ ने बांग्लादेश आ‌र्म्ड फोर्स के अधिकारियों के साथ खुशियों को किया साझा, गले मिलकर बकरीद की दी शुभकामनाएं

बीएसएफ

किशनगंज। बकरीद पर्व को लेकर भारत बांग्लादेश सीमा पर भी विशेष उत्साह देखा गया। बुधवार को सीमा क्षेत्र के निकट रहने वाले मुस्लिम धर्मावलंबियों ने कोरोना महामारी के कारण अपने अपने घरों में नमाज अदा कर अमन चैन और शांति की दुआ मांगी। नमाज अदा करने के बाद लोगों ने एक दूसरे से गले मिलकर मुबारकबाद दी। इस मौके पर बीएसएफ जवानों में भी विशेष उत्साह देखा गया। मुस्लिम जवानों ने साथी जवानों के साथ मिलकर बकरीद की खुशियां बांटी। जबकि बीएसएफ अधिकारियों ने बांग्लादेश आ‌र्म्ड फोर्स के अधिकारियों के साथ खुशियों को साझा किया और उपहार व मिठाइयां भेंट की। जबकि बांग्लादेश आ‌र्म्ड फोर्स के अधिकारियों ने भी बीएसएफ अधिकारियों को मिठाइयां भेंट की।

अधिकारियों ने विश्व शांति की कामना करते हुए एक दूसरे से गले मिलकर बकरीद की शुभकामनाएं दी। इस दौरान ग्वालागच्छ बीओपी में तैनात 94 वीं बटालियन के अधिकारियों और जवानों ने बांग्लादेश के मीरगढ़ बीओपी में तैनात 18 वीं बटालियन के बीजीबी अधिकारियों और जवानों को मिठाइयां प्रदान कर बकरीद की शुभकामनाएं दी। जबकि मंगलबस्ती, पुरोहितगच्छ, अंबिकानगर आदि बीओपी में तैनात बीएसएफ जवानों ने बांग्लादेश के पेड़ियागच्छ, भजनपुर, मैनागुड़ी, मिस्त्रीपाड़ा आदि बीओपी में तैनात बीजीबी 18 वीं बटालियन के जवानों को उपहार व मिठाइयां भेंट कर बकरीद की शुभकामनाएं दी। बकरीद पर्व का उल्लास बीएसएफ के 135 वीं बटालियन और 146 वीं बटालियन में भी देखा गया। दोनों बटालियन के अधिकारियों ने बांग्लादेश के बीजीबी 50 वीं बटालियन के अधिकारियों को उपहार और मिठाइयां प्रदान कर बकरीद की शुभकामनाएं दी।

वहीं बीजीबी अधिकारियों ने भी बीएसएफ अधिकारियों को उपहार प्रदान कर बकरीद की शुभकामनाएं दी। पर्व के दौरान दोनों देशों के लोग भी तारबंदी के समीप जुटे और एक दूसरे को बकरीद पर्व की बधाई देते हुए मिठाइयों व अन्य उपहारों का आदान प्रदान किया। बताते चलें कि आज भी भारतीय सीमाक्षेत्र में बसे कई लोगों के नजदीकी रिश्तेदार बांग्लादेश में रहते हैं। परंतु तारबंदी के कारण उनकी मुलाकात नहीं होती है। लेकिन त्योहारों के मौके पर दोनों देशों के लोग आपस में जरूर मिलते हैं और एक दूसरे के साथ मिलकर त्योहार की खुशियां मनाते हैं। हालांकि इस दौरान बीएसएफ और बीजीबी अधिकारी व जवानों की कड़ी नजर लोगों पर बनी रही।

Share this story