Main

Today's Paper

Today's Paper

सही समय पर सही निर्णय ले रही है बिहार सरकार: संजय जायसवाल

पटना। बिहार सरकार के कोरोना प्रबन्धन को बेमिसाल बताते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल ने आज कहा कि कोविड प्रबन्धन के मामले में बिहार सरकार की तैयारियां और काम पूरे देशभर में बेमिसाल साबित हुए हैं. चाहे वह अर्थव्यवस्था की बात हो या आम लोगों की जिन्दगी की चिंता, बिहार सरकार ने सही समय पर वह सारे निर्णय लिए लिए हैं जो एक जिम्मेदार राज्य सरकार को लेने चाहिए. सीमित संसाधनों के बावजूद बिहार सरकार द्वारा लिए गये फैसले वास्तव में पूरे देश के सामने एक उदहारण बन के उभरे हैं, जिससे सभी को सीख लेनी चाहिए.


उन्होंने कहा कि आपदा प्रबन्धन विभाग की आज हुई बैठक में लिए गये निर्णयों में सरकार ने समाज के हर तबके का ख्याल रखने का भरपूर प्रयास किया है. 2:00 बजे दिन तक ज्यादातर दुकानों में काम अच्छे से नहीं हो पाता था इसलिए आने वाले समय में होने वाली धान के रोपनी और अन्य फसलों की जरूरतों को देखते हुए सरकार ने अन्य दुकानों के साथ-साथ खाद-बीज की दुकानों को भी सुबह 6 बजे से शाम 5 बजे तक खोलने की घोषणा की है, जिससे आम जन और खेती-किसानी से जुड़े कार्य अनिर्बाध रूप से चलते रहेंगे. इसके अलावा 50 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ सरकारी व निजी कार्यालयों को 4 बजे तक खोलने की घोषणा भी नौकरीपेशा वर्ग के साथ-साथ राज्य की अर्थव्यवस्था को सहूलियत प्रदान करने वाली है. निजी वाहनों को भी छुट दी गयी है वहीं ऑनलाईन शिक्षण कार्य भी किये जा सकेंगे. इस बीच राज्य में शाम 7 बजे सुबह 5 बजे तक नाईट कर्फ्यू जारी रहेगा.


डॉ जायसवाल ने कहा कि सरकार ने भीड़ जुटाने वाले कार्यक्रमों पर रोक को बरकरार रखा है वहीँ रेस्टोरेंट को होम डिलेवरी के लिए सुबह 9 से रात 9 तक खुलने की अनुमति दे दी है. यह दिखाता है कि सरकार के लिए आमजन सर्वोच्च हैं.  


उन्होंने कहा कि आज लिए गये निर्णयों से बिहार सरकार ने एक बार फिर यह साबित कर दिया है कि अगर नीति स्पष्ट हो तो राह में कोई भी बाधा टिक नहीं सकती. आर्थिक रूप से कमजोर होने के बाद भी बिहार ने कोरोना आपदा को रोकने से लेकर टीकाकरण तक में पूरे देश के सामने एक मिसाल प्रस्तुत की है. आज सही स्थिति यही है की करोना की सबसे बडी़ लहर को हम पार कर चुके हैं. सभी जिलों में आज 50 से कम केस है. सरकार के कार्यों और आम जनता की एकजुटता से आज बिहार में कोरोना के मामले लगातार घटते जा रहे हैं. 


लेकिन एक पुरानी कहावत है कि सतर्कता हटी, दुर्घटना घटी .दुर्घटना कभी कहकर नहीं आती है. अगर हम लगातार गलतियां करेंगे तो कभी भी करोना पुनः आ सकता है. इसलिए इस छूट के बावजूद हमारी सावधानियों में कोई कमी आनी चाहिए. मेरी सभी से अपील है कि मास्क व दो गज की दूरी का निरंतर पालन करें. इसके अलावा खुद भी टीका लें और दूसरों को भी इसके लिए प्रेरित करें. आपसी एकजुटता ही इस जंग में हमारा सबसे प्रभावी हथियार है. इसी से हम इस जंग को जीत सकते हैं.

Share this story