Main

Today's Paper

Today's Paper

गरीब अगर वे कोरोना से बच भी जाएं तो भूख से कैसे बचेंगे?- हम

हम

पटना। राज्य में 15 मई तक पूर्ण लॉकडाउन लगाने का फैसला लिया है। बिहार में बंदिश की घोषणा के साथ ही सियासत शुरू हो गई है। नीतीश कुमार की सरकार में शामिल सहयोगी पार्टी हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) ने इसपर ऐतराज जता दिया है। हम के प्रवक्ता दानिश रिजवान ने कहा है कि लॉकडाउन से गरीबों को दिक्कत होगी। अगर वे कोरोना से बच भी जाएं तो भूख से कैसे बचेंगे?

दानिश रिजवान ने कहा कि बिहार सरकार ने लॉकडाउन का फैसला न्यायालय की टिप्पणी के बाद लिया है, लेकिन इस निर्णय से गरीब तबका निराश होगा। क्योंकि वो कोरोना से बच गया तो भूख से मर जाएगा। सरकार को उन लोगों का ख्याल रखना चाहिए जो हर दिन मेहनत करता है और शाम में अपने परिवार के लिए राशन का इंतजाम करता है। 


हम ने सरकार से अनुरोध किया है कि आपने लॉकडाउन का फैसला तो ले लिया है पर इसके साथ दिहाड़ी मजदूर और गरीबों की चिंता करनी होगी। हम ने कहा कि ऐसा लोगों को छूट मिलनी चाहिए। बैंक लोन लिए लोगों का इंट्रेस्ट और किराएदारों का किराया माफ होना चाहिए। अगर ऐसा नहीं हुआ तो जनता के बीच आक्रोश पनपेगा, जिसका नतीजा बहुत खराब होगा। 

Share this story