Main

Today's Paper

Today's Paper

लॉकडाउन ही अंतिम विकल्प- डॉ प्रेम कुमार

डॉ प्रेम कुमार

पटना। बिहार सरकार का 15 मई तक लॉकडाउन का लिया गया निर्णय, बढ़ते कोरोना संक्रमण को रोकने का अंतिम विकल्प आवश्यक हो गया है। जिस तरह कोरोना संक्रमण दिन दूनी रात चौगुनी बढ़ती जा रही है, इससे अस्पतालों में वेडों की संख्या कम पड़ गई। कहीं कोई बेड खाली नहीं है। ऑक्सीजन की किल्लत होने लग गई है।अतः बिहार सरकार आपदा प्रबंधन विभाग ने सोच-समझकर फैसला लिया। 

अब राज्य की जनता का, हम सब का कर्तव्य बनता है कि सरकार के फैसले को शतप्रतिशत पालन कर 15 मई तक लॉकडाउन को सफल बनावे। ताकि कोरोना संक्रमण का चेन टूट सके। हमको कोरोना महामारी को हराकर फिर से, स्वस्थ विहार, सुंदर विहार, बढ़ता बिहार, को जल्द गति देना है।सरकार ने लॉकडाउन का गाइडलाइन भी जारी किया है। जरूरी सेवा विद्युत, पेयजल, बैंक, डाकघर, टेलीफोन, पुलिस, प्रशासन, के कार्यालय, दवा की दुकान,  एंबुलेंस,  हॉस्पिटल, सभी खुलेंगे। 


बाजार में जरूरी सामान तय समय पर मिलेंगे। सब्जी, मछली, मीट, अंडा, दूध ठेला पर सुबह 7:00 बजे से दोपरहर 11:00 बजे तक बिकेंगे। अपने घरों से निकलना बंद करें। अगर दुश्मनों को हराना है तो सेनापति बने। सभी प्रकार के वाहन बंद किए गए हैं। जरूरी सेवा के वाहन सिर्फ चलेंगे। शादी में 50 एवं अंतिम संस्कार में 20 लोग ही भाग लेंगे। राशन कार्ड धारकों को मुफ्त में अनाज 2 महीने का मिलेगा। 

दवा की दुकान, एंबुलेंस, अस्पताल, सरकारी वाहन, लॉकडाउन से बाहर रहेंगे। ई पास लेकर लोग बाहर जा सकेंगे। निर्माण कार्य जारी रहेंगे। पेट्रोल पंप, एलपीजी गैस, पेट्रोलियम पदार्थ, प्रिंट मीडिया, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पहले की तरह चलेंगे। विमान और रेल यात्रा करने वाले ही पब्लिक ट्रांसपोर्ट में 50 प्रतिशत क्षमता के साथ यात्रा कर सकेंगे।रेस्तरां को सिर्फ होम डिलीवरी की अनुमति दी गई है। 


किसी प्रकार की सामग्री को संग्रह कर घर में रखने की जरूरत नहीं है। सभी जरूरी सामग्री आपको समय पर मिलेंगे। सिर्फ अनावश्यक भीड़ ना लगाए। भीड़ में ना जाएं। बहुत जरूरी हो तो मास्क लगाकर शारीरिक दूरी बना कर घर से बाहर बाजार में जरूरी सामान लेने जाएं। अपने-अपने घरों में रहे। कोरोना को हराएं।

Share this story