Main

Today's Paper

Today's Paper

बिहार में सुशासन की सरकार है, क्या यही सुशासन है- तेजस्वी

पटना। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बुधवार को कहा कि बिहार पुलिस जदयू पुलिस बन गई है। तेजस्वी ने आगे कहा कि मधुबनी प्रकरण में यदि मैं मौके पर नहीं गया होता तो आज दोषियों की गिरफ्तारी भी नहीं हो पाती। उन्होंने कहा कि इस मामले में अपराधियों को सत्ता का संरक्षण प्राप्त है। तेजस्वी ने कहा कि बिहार में अपराधी खुले घूमते हैं और जनता की आवाज उठाने पर हमारे खिलाफ 307 का मुकदमा कर दिया जाता है।


बता दें कि मंगलवार को तेजस्वी यादव बेनीपट्टी के महमदपुर में हत्याकांड के पीड़ितों के परिजनों से मिलने पहुंचे थे। तेजस्वी ने कहा कि बिहार में अपराधी बेलगाम हैं। सरकार की एक नहीं चलती है। कहते हैं कि बिहार में सुशासन की सरकार है। क्या यही सुशासन है? दिनदहाड़े अंधाधुध फायरिंग कर पांच लोगों की हत्या कर दी गई। एक घायल जीवन व मौत से जूझ रहा है और सरकार अब तक पीड़ित परिवारों के लिए दो शब्द सांत्वना के भी नहीं दे पायी। 

तेजस्वी ने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि पीड़ितों को न्याय दिलाने के लिए उन्हें जहां भी जाना होगा जाएंगे। कहा कि प्रवीण झा रावण सेना चला रहा है और प्रशासन को पता तक नहीं है। पीड़ित परिजनों का कहना है कि एक पूर्व मंत्री का संरक्षण प्रवीण झा जैसे अपराधियों को मिल रहा है। इसकी जांच होनी चाहिए। उन्होंने पुलिस प्रशासन पर हमला बोलते हुए कहा कि मधुबनी के वर्तमान पुलिस अधिकारी जब तक रहेंगे न्याय नहीं मिलेगा। सभी पर कार्रवाई के लिए वे संघर्ष करेंगे।

नेता प्रतिपक्ष ने मुख्य आरोपित प्रवीण झा के साथ पूर्व मंत्री की तस्वीर दिखायी। बेनीपट्टी के प्रशासनिक अधिकारियों के साथ प्रवीण झा की तस्वीर दिखलायी। आरोप लगाया कि इन लोगों द्वारा ही यह अपराधी संरक्षित है। नेता प्रतिपक्ष ने पूछा, प्रशासन क्या कर रहा है? उन्होंने पीड़ित परिजनों को सुरक्षा देने, परिजनों के एक सदस्यों को नौकरी देने, परिवार के सदस्यों को मुआवजा व परवरिश की मांग की।

Share this story