Main

Today's Paper

Today's Paper

ग्रामीण क्षेत्रों में घर-घर घूमकर नागरिकों को कोविड 19 का टीका लेने के लिए किया जागरूक

टीकाकरण टीम

मोतिहारी, पू.च.। स्वास्थ्य विभाग के निर्देशानुसार टीकाकरण को बढ़ावा देने के उद्देश्य से चिरैया प्रखण्ड के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ श्याम पासवान ने चलंत आरबीएसके मोबाइल टीकाकरण टीम का निरीक्षण किया। साथ ही उन्होंने चिरैया के बेला गाँव, वार्ड नम्बर 3 में मूल्यांकन सहायक नितेश कुमार, यूनीसेफ के ज्ञानरंजन, एवं सामुदायिक उत्प्रेरक दीपक कुमार के साथ ग्रामीण क्षेत्रों में घर घर घूमकर नागरिकों को कोविड 19 का टीका लेने के लिए जागरूक किया।

उनलोगों ने बताया कि कोविड टीका  लगाकर व कोरोना प्रोटोकॉल का पालन कर लोग कोविड जैसी महामारी से सुरक्षित हो रहे हैं। टीका लगवाने में किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं हो रही है। चलंत टीम, मोबाइल वैन आसानी से लोगों के घरों, मुहल्लों तक पहुंच कर टीका दे रहा है जिसका लाभ उठाना चाहिए। उन्होंने कहा कि अभी भी कोरोना टला नहीं है।लोगों की सूझबुझ व लॉक डाउन के कारण कोरोना के मामलों में कमी आई-
अधिकारियों ने कहा लोगों की सूझबुझ व लॉक डाउन के कारण कोरोना के मामलों में कमी आई है।

इसलिए आपसभी से अपील है कि समझदारी से काम लीजिए। साफ़ सुथरे मास्क पहनिये, हाथों को साबुन, से साफ करें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें, एवं टीकाकरण बेहद जरूरी है इसे जरूर कराएं। टीकाकरण से शरीर मेऐन्टीबॉडी का निर्माण होता है जिससे आप का शरीर कोरोना से लड़ने में सक्षम होता है। परिवार, समाज, देश की सुरक्षा के लिए यह बेहद आवश्यक है कि लोग टीकाकरण कराएं। डॉ श्याम पासवान द्वारा क्षेत्र भ्रमण के दौरान आरबीएसके चलंत टीम को जागरूकता के साथ ग्रामीण क्षेत्रों में टीकाकरण के लक्ष्य अनुरूप बढ़ावा देने हेतु बताया गया कि ग्रामीणों में कोविड टीकाकरण के बारे में फैले भ्रम को कैसे दूर किया जाए? कोरोना के खतरों के बारे में समझाया जाए? टीकाकरण की भ्रांतियां को कैसे दूर किया जाए? केयर इंडिया के प्रखण्ड प्रबंधक विक्रान्त कुमार के द्वारा टीकाकरण के महत्व की विशेष जानकारियाँ दी गई । उन्होंने बताया कि दलित एवं महादलित टोला में टीकाकरण को लेकर लोगों  में  जो भ्रम है उसको ग्रामीण चिकित्सक, जनप्रतिनिधि, आशा, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व जीविका दीदियाँ दूर करने में सहयोग कर रही हैं। चौपाल लगाकर लाभार्थियों को समझा कर टीकाकरण का लक्ष्य हासिल करें।

कोविड- 19 टीकाकरण कार्य में तेजी लाने के लिए चिकित्सकों व स्वास्थ्य कर्मियों से सिविल सर्जन ने बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों व महादलित टोलों में कोविड की जाँच एवं टीकाकरण बढ़ाने के लिए एवं ग्रामीणों को प्रोत्साहित करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि चौपाल लगाकर 45 वर्ष से ऊपर के लाभार्थियों जिनको कोविड19 का टीका नहीं पड़ा है वैसे लोगों को समझा कर टीकाकरण का लक्ष्य हासिल करें। उन्होंने कहा बाढ़ग्रस्त क्षेत्र के लोगों का समय से टीकाकरण होना बहुत जरूरी है। 18 वर्ष से ऊपर के लोगों के टीकाकरण के बारे में बताया कि उपलब्धता के आधार पर टीका दिया जा रहा है। वे लोग धैर्यपूर्वक अपनी बारी का इंतजार करें। टीका मिलते सभी को उपलब्ध करा दिया जाएगा। तब तक कोविड19 से लड़ने के लिए सोशल डिस्टेनसिंग व 3 लेयर मास्क, सैनिटाइजर एक सुरक्षात्मक हथियार है। कृपया कोविड प्रोटोकॉल का पालन करें। बेवजह घरों से बाहर न निकलें। लॉक डाउन के नियमों का पालन कर घर परिवार को सुरक्षित करें।

केयर डीटीएल अभय भगत ने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए बाढ़ग्रस्त क्षेत्र के लोगों का टीकाकरण के साथ-साथ दिल्ली, कोलकाता, पड़ोसी राज्यों से आनेवाले सभी प्रवासियों की कोविड जाँच हो, ताकि बीमारी न फैल पाए। उन्होंने निर्देश दिए कि कोविड  मरीज जो होम आइसोलेट हैं उनकी नियमित जाँच होनी चाहिए ताकि उन्हें किसी भी प्रकार की चिकित्सीय जरूरत पड़ने पर सहायता उपलब्ध हो सके। यूनिसेफ के ज्ञान रंजन ने कहा कि महामारी से बचाव के लिए टीकाकरण बहुत ही आवश्यक है। टीका एवं कोरोना प्रोटोकॉल के पालन करके ही इस कोरोना महामारी से बचा जा सकता है। 
मौके पर प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ श्याम पासवान, मूल्यांकन सहायक नितेश कुमार, यूनीसेफ के ज्ञानरंजन, एवं सामुदायिक उत्प्रेरक दीपक कुमार, केयर इंडिया के प्रखंड प्रबंधक विक्रान्त कुमार एवं आशा फैसिलेटर, आशा, सेविका सहित ग्रामीण चिकित्सक उपस्थित थे।

Share this story