Main

Today's Paper

Today's Paper

हथडीहाँ आहर-पईन जीर्णोद्धार में अनियमितता की जाँच करेंगे जिलाधिकारी

दावथ, रोहतास। दावथ प्रखंड अंतर्गत हथडीहाँ गाँव में आहर व पईन जीर्णोद्धार में व्यापक अनियमितता की शिकायत की जाँच आयुक्त पटना प्रमंडल नें जिलाधिकारी, रोहतास को सौंपा है। कमीश्नर (आयुक्त), पटना प्रमंडल नें जिलाधिकारी रोहतास को स्वयं जाँच करनें का आदेश जारी किया है। कमीश्नर नें यह आदेश स्थानीय हथडीहाँ निवासी सह दिल्ली उच्च न्यायालय, अधिवक्ता सौरभ तिवारी के प्रथम अपील परिवाद की सुनवाई के दौरान 5 अप्रैल को दिया है। 


कमीश्नर के लिखित आदेश 7 अप्रैल को आनलाईन अपडेट किया गया। गौरतलब है की गत 18 मार्च को उप विकास आयुक्त, रोहतास स्वयं हथडीहाँ आहर-पईन जीर्णोद्धार में अनियमितता के आरोपों की जाँच करनें हेतू गये थे लेकिन परिवादी सह उच्च न्यायालय अधिवक्ता सौरभ तिवारी नें उप विकास आयुक्त, रोहतास की जाँच को महज खानापूर्ति बताते हुए आयुक्त, पटना प्रमंडल व जिलाधिकारी, रोहतास को 24 पन्नों का प्रतिवेदन/आवेदन महत्वपूर्ण साक्ष्य सहित भेजकर उप विकास आयुक्त की जाँच की कार्यशैली व रिपोर्ट पर कड़ी आपत्ति दर्ज कराई थी। व 5 अप्रैल को कमीश्नर के समक्ष विडियोकान्फ्रेंसिंग से सुनवाई के दौरान परिवादी सौरभ तिवारी के प्रतिनिधि द्वारा डीडीसी की जाँच को असंतोषजनक बताया गया था। उल्लेखनीय है की हथडीहाँ आहर का जीर्णोद्धार 767 मीटर लंबाई में व 20 से 30  मीटर चौड़ाई में प्रस्तावित है व हथडीहाँ पईन का जीर्णोद्धार 1015 मीटर लंबाई में 10 से 27 मीटर चौड़ाई में प्रस्तावित है। जबकि परिवादी की शिकायत के अनुसार अधिकतर जगह 10 से 30 फुट चौड़ी हीं खुदाई हुई है। परिवादी सह स्थानीय निवासी सौरभ तिवारी के अनुसार जल जीवन हरियाली अभियान अंतर्गत हथडीहाँ आहर व पईन का कार्यान्वयन मानक से कोसो दूर है व जीर्णोद्धार के नाम पर केवल खानापूर्ति हुई है। बमुश्किल 30 से 40 प्रतिशत कार्य हीं किया गया है। 


जबकि योजना की संभावित खर्च राशि लगभग 47 लाख रु है। परिवादी सौरभ तिवारी के अनुसार उम्मीद व विश्वास है की बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की महत्वाकांक्षी जल जीवन हरियाली परियोजना अंतर्गत  हथडीहाँ आहर- पईन की जाँच हेतू जिलाधिकारी, रोहतास स्वयं हथडीहाँ जाएँगे व जाँचोपरांत जीर्णोद्धार मानक के अनुसार होगा। साथ हीं गलत प्रतिवेदन देनें वाले अधिकारियों पर कार्रवाई भी सुनिश्चित करेंगे। परिवादी नें आयुक्त पटना प्रमंडल द्वारा जिलाधिकारी रोहतास को स्वयं हथडीहाँ आहर- पईन जाँच करनें के आदेश का स्वागत किया है।


उल्लेखनीय है की अप्रैल शुरुआत में हीं इलाके के चापाकलों में पानी आना कम हो गया है ऐसे में ग्रामीणों में खुशी है कि आहर-पईन जीर्णोद्धार के पश्चात वर्षा जल संचयन हो सकेगा व भूतल जल स्तर नीचे नहीं जाएगा।

Share this story