Main

Today's Paper

Today's Paper

पुरानी दुश्मनी को लेकर पिता-पुत्री का अपहरण, पुलिस एवं ग्रामीणों की दबिश पर अपहरणकर्ताओं ने छोड़कर भागे 

पिता-पुत्री का अपहरण

वैशाली। राजापाकर थाना क्षेत्र के गौसपुर बरियारपुर गांव निवासी गोनौर राय के पुत्र सुरेन्द्र राय एवं उसकी चार साल की पुत्री अंकिता की बुधवार की सुबह अपहरण कर लिए जाने की घटना के बाद क्षेत्र में सनसनी फैल गई है। इस घटना की सूचना तत्काल पुलिस को दी गई। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। 


घटना की जानकारी लेने के बाद पिता-पुत्री की खोज में जुट गई। वही स्थानीय ग्रामीण भी काफी संख्या में अपने स्तर से इलाके में चारों तरफ खोजबीन करने लगे। बाद में पुलिस की दबिश से घबराकर एवं ग्रामीणों की सक्रियता के कारण अपहरणकर्ताओं ने पिता एवं पुत्री गांव के निकट ही सुनसान स्थान पर अलग-अलग स्थानों पर छोड़कर भाग निकले। पिता-पुत्री की खोज में निकले ग्रामीणों ने बच्ची को एक सुनसान स्थान पर रोते पाया। वहीं कुछ देर बाद उसके पिता भी घर पहुंच गए।


मिली जानकारी के अनुसार बुधवार की सुबह लगभग सात बजे के आसपास सुरेन्द्र राय अपनी चार साल की पुत्री अंकिता कुमारी को साथ में लेकर अपने गैराज बभनी मठ पेट्रोल पंप के निकट जा रहा था। इसी बीच दीपक सिन्हा के चिमनी के पास पहले से घात लगाए पांच से सात की संख्या में रहे लोगों ने सुरेन्द्र राय को घेर लिया और पिता एवं पुत्री का अपहरण कर भाग निकले। इसके बाद घटना की जानकारी मिलते ही उनके स्वजनों ने राजापाकर थाना की पुलिस को सुचित किया। सूचना मिलते ही तत्काल पुलिस घटनास्थल पर पहुंच कर मामले की जांच कर अपहरणकर्ताओं को खोजना शुरू कर दिया। बाद में पुलिस की दबिश से घबराकर अपहरणकर्ताओं ने पिता-पुत्री को घर के निकट छोड़ दिया।

सुरेन्द्र राय के चचेरे भाई ने पुलिस को बताया कि थाना क्षेत्र के बरियारपुर गांव निवासी राजेश्वर राय से सुरेन्द्र राय की पुरानी दुश्मनी चल रही है इसी को लेकर राजेश्वर राय ने मनोज राय, रामकुमार राय, दिलीप राय, मिथलेश राय, कृष्ण नंदन राय, रामप्रसाद राय, शत्रुघ्न राय, दिनेश्वर राय, दिनेश राय, राजेश्वर राय, मिथलेश राय के साथ मिलकर पिता-पुत्री का अपहरण कर लिया है। ज्ञात हो कि अपहरणकर्ताओं में शामिल मनोज राय मंगलवार को ही जेल से छुटकर आया है।

Share this story