Friday, December 3, 2021 at 7:03 AM

दानकर्ता पर ही दर्ज हुआ मुकदमा—

सुलतानपुर-– सरकारी जीर्ण शीर्ण बिल्डिंग में कुछ नही हुआ लेकिन लापरवाह सचिव पायलट ने ग्रामीणों पर बिल्डिंग गिराने और पेड़ काटने का फर्जी आरोप लगाते हुये मुकदमा दर्ज करवा दिया। फिलहाल पीड़ित ग्रामीणों ने जिलाधिकारी ने न्याय की गोहार लगकर मामले की निष्पक्ष जांच करवा दोषियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है।
 दरअसल ये मामला है दूबेपुर ब्लाक के दूबेपुर गांव का। इसी गांव के पूर्व प्रधान की जमीन पर अवैध तरीके से काफी पहले पायलट प्रोजेक्ट सहकारी विकास संघ लिमिटेड का भवन बना हुआ है। वर्तमान में ये भवन बेहद जीर्ण शीर्ण और जर्जर हो चुका है। लेकिन पायलट सचिव ने गांव की सीमा सिंह, पूर्व प्रधान अरविंद कुमार वर्मा और संगमलाल मिश्रा पर इस बिल्डिंग को गिराने के साथ साथ वहां लगे पेड़ काटने का आरोप लगाते हुये  देहात कोतवाली थाने में मुकदमा दर्ज करवा दिया। आइये आप को इस मामले में एक हैरान कर देने वाली कहानी बताते हैं। दरअसल पायलेट प्रोजेक्ट सहकारी विकास संघ लिमिटेड की बिल्डिंग भी पूर्व प्रधान अरविंद कुमार वर्मा की जमीन पर बनी है। लिहाजा करीब एक महीने पहले विभाग के सचिव पायलेट प्रभात वर्मा के माध्यम से पूर्व प्रधान अरविंद वर्मा ने आपसी सहमति से करीब एक बिस्वा जमीन भी बिल्डिंग बने स्थान को दान में दे दी। ऐसे में ग्रामीणों की जमीन हड़पने और उन्हें परेशान करने के लिये इन तीनो ग्रमीणों पर मुकदमा दर्ज करवा दिया। लिहाजा अपने ऊपर दर्ज हुये फर्जी मुकदमें और मामले की निष्पक्ष जांच के लिये ग्रामीण जिलाधिकारी के पास पहुंचे और न्याय की गोहार लगाई
वहीं जिलाधिकारी की माने तो प्रधानमंत्री के कार्यक्रम के दौरान सरकारी बिल्डिंग गिराने की सूचना मिली थी। फिलहाल आज शिकायतकर्ता से मिलने के बाद उन्होंने मामले की निष्पक्ष जांच करवा कर दोषियो पर कड़ी कार्यवाही की बात कही है।