UKADD
Thursday, October 21, 2021 at 9:09 PM

छठ पर्व का आयोजन सरकार के प्रोटोकॉल के हिसाब से ही होगा

सार्वजनिक स्थानों पर छठ पूजा के आयोजन को लेकर हो रही सियासत के बीच केंद्र सरकार ने बड़ा बयान दिया है. सरकार के सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक केंद्र ने साफ कर दिया है कि छठ पर्व का आयोजन सरकार के प्रोटोकॉल के हिसाब से ही होगा. यह बयान आम आदमी पार्टी द्वारा केंद्र को लिखे गए उस पत्र के बाद आया है जिसमें दिल्ली सरकार के मंत्री मनीष सिसोदिया ने छठ मनाने को लेकर राय मांगी थी. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद और दिल्ली बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष मनोज तिवारी ने छठ पूजा उत्सव पर प्रतिबंध लगाने को लेकर केजरीवाल सरकार की आलोचना की थी और स्विमिंग पूल, मॉल, साप्ताहिक बाजार और सार्वजनिक परिवहन सब कुछ चालू होने के बावजूद प्रतिबंध को गलत बताया था. मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा था कि सार्वजनिक स्थानों पर छठ पूजा पर प्रतिबंध लगाने का फैसला कोरोना वायरस संक्रमण महामारी के मद्देनजर लिया गया है. इसके बाद दिल्ली बीजेपी के नेताओं ने केजरीवाल के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था. भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने दिल्ली सरकार के फैसले को तुगलकी फरमान बताते हुए कहा कि उनकी पार्टी इसका विरोध करती है क्योंकि यह पूर्वांचलवासियों की धार्मिक आस्था पर हमला है. ‘केजरीवाल नेतृत्व वाली सरकार संभवत: छठ पूजा की तैयारियां ना करे, लेकिन भाजपा शासित नगर निगम इसकी समुचित व्यवस्था करेंगे.’ सरकार के मत से दिल्ली बीजेपी को बड़ा झटका लगा है. छठ को लेकर केंद्र सरकार ने मत साफ करते हुए कहा है कि केंद्र सरकार द्वारा त्योहार के लिए कोविड प्रोटोकाल का एसओपी पहले से ही लागू है, उसे ही आगे लागू रखना है. दिल्ली भी उससे बाहर नहीं है, दिल्ली सरकार को भी उसे ही मानना चाहिए. इस पर राजनीति नहीं होना चाहिए.