Saturday, January 22, 2022 at 2:42 AM

मुख्यमंत्री चन्नी किसी दूसरी सा पर जाकर दावा कर रहे कि अवैध रेता माइनिंग नहीं हो रही- राघव चड्ढा

मुख्यमंत्री चन्नी आज उस माइनिंग साइट पर नहीं गए, जहां पर मैंने रेड की थी, वे किसी दूर-दराज के इलाके में गए और कह रहे कि यहां हो रही माइनिंग वैध है- राघव चड्ढा

पंजाब के सीएम चरणजीत चन्नी के निर्वाचन क्षेत्र में कल आम आदमी पार्टी ने रेड करके अवैध रेता माइनिंग का खुलासा किया था- राघव चड्ढा

मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी के संरक्षण में उनके इलाके में अवैध रेता माइनिंग सरेआम चल रही है- राधव चड्ढा

नई दिल्लीlपंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी द्वारा अपने निर्वाचन क्षेत्र में अवैध रेता माइनिंग नहीं होने का दावा करने पर आम आदमी पार्टी ने आज आड़े हाथ लिया। ‘आप’ विधायक एवं पंजाब के सह प्रभारी राघव चड्ढा ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी आज किसी दूसरी साइट पर जाकर कह रहे हैं कि अवैध रेता माइनिंग नहीं हो रही है। आज चन्नी साहब किसी दूर-दराज के इलाके में गए और कह रहे कि यहां हो रही माइनिंग वैध है। चन्नी साहब उस माइनिंग साइट पर नहीं गए, जहां पर मैंने रेड की थी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री चन्नी के निर्वाचन क्षेत्र में कल आम आदमी पार्टी ने रेड करके अवैध रेता माइनिंग का खुलासा किया था। मुख्यमंत्री के संरक्षण में उनके इलाके में ही अवैध रेता माइनिंग सरेआम चल रही है।

आम आदमी पार्टी के विधायक एवं पंजाब के सह प्रभारी राघव चड्ढा ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के निर्वाचन क्षेत्र में कल आम आदमी पार्टी ने रेड की और यह सार्वजनिक तौर पर सामने आया कि कैसे नाजायज सैंड माइनिंग सरेआम मुख्यमंत्री के अपने इलाके में चल रही है। मुख्यमंत्री की रहबरी में चल रही है। आज मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी किसी दूर-दराज के किसी इलाके में जाकर कहते हैं कि यहां पर जो माइनिंग हो रही है, वह वैध है। मुख्यमंत्री चन्नी उस माइनिंग साइट पर नहीं गए, जहां पर मैंने रेड की। वह किसी दूसरी साइट पर जाकर कहते हैं कि यह वैध माइनिंग है।

‘आप’ पंजाब के सह प्रभारी राघव चड्ढा ने कल मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के निर्वाचन क्षेत्र चमकौर साहिब के गांव जिंदापुर में खनन साइट पर जाकर अवैध खनन का खुलासा किया। उन्होंने कहा कि यहां पर सरेआम नाजायत रेता माइनिंग चल रही है। रेता को ट्रकों में भर कर ले जाया जा रहा है। जब चन्नी साहब मुख्यमंत्री बने, तब कहे कि रेता माफिया मेरे पास न आएं, मैं रेता माफिया का मुख्यमंत्री नहीं हूं, लेकिन वहां पर रेता माफिया मुख्यमंत्री के संरक्षण में सरेआम काम कर रहा है। हमारा अनुमान है कि यहां से प्रतिदिन 800 से 1000 ट्रक रेता लेकर जाते हैं। एक ट्रक में करीब 800 फीट रेता आता है। बताया जा रहा है कि यह रेता कम से कम 5 रुपए से लेकर 40 रुपए बिकता है। मुख्यमंत्री चन्नी साहब जगह-जगह होर्डिंग लगाए हैं और कहते हैं कि रेता माफिया मेरे पास न आए, लेकिन यहां पर उनकी नाक के नीचे रेता माफिया चल रहा है।

इस दौरान राघव चड्ढा ने पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी से कुछ सवाल भी पूछे। उन्होंने पूछा कि कितने समय से आपके हल्के अवैध रेते की माइनिंग चल रही है। इस माइनिंग का कितना हिस्सा आपके पास पहुंचता है और अगर पहुंचता है तो हर महीने कितने लाख रुपए पहुंचते हैं। साथ ही उनके हल्के में ऐसी कितनी अवैध माइनिंग के अड्डे चलाया जा रहे हैं। पूरे पंजाब में ऐसी कितनी साइटें हैं, जहां पर अवैध माइनिंग चल रही है और क्या चन्नी साहब खुद रेता माइनिंग माफिया को संरक्षण देते हैं। क्या उनकी आपस में पार्टनरशीप है। मुझे उम्मीद है कि चन्नी साहब हमारे इन सवालों का जवाब देंगे। राघव चड्ढा ने एक चिट्ठी का हवाला देते हुए कहा कि यहां के वन अधिकारी ने कुछ दिन पहले एसएचओ और तहसीलदार को पत्र लिखकर कहा था कि जिंदापुर पिंड में इस जगह अवैध रेता माइनिंग चल रही है, इसे रोकिए। चिट्ठी में साफ तौर पर कहा गया कि यह जमीन वन विभाग की जमीन के अंतर्गत आती है। यहां पर कोई अवैध गतिविधि नहीं हो सकती है। माइनिंग तो बिल्कुल भी नहीं हो सकती है। यह पत्र लिखने वाले वन अधिकारी का अगले ही दिन चन्नी सरकार ने ट्रांसफर कर दिया। इस पर एसएचओ और तहसीलदार ने कोई कार्रवाई नहीं की।