Wednesday, December 8, 2021 at 3:50 PM

जाम से जूझ रहे हैं आमलोग

जहानाबाद : शहरी में अतिक्रमण की समस्य विकराल रूप धारण कर चुकी है। इससे शहरवासियों को कदम-कदम पर जाम की समस्या का सामना करना पड़ रहा है। इससे निजात की दिशा में कोई ठोस कार्रवाई नहीं की जा रही है। बैठक और कागजी खानापूरी को अमलीजामा नहीं पहनाए जाने से शहर में जाम की समस्या बढ़ती चली जा रही है। अतिक्रमणकारियों का मनोबल बढ़ता चला गया। शहर के किसी भी चौक-चौराहा या फिर फुटपाथ पर कदम रखने का भी जगह नहीं मिलता। इन स्थलों पर अतिक्रमणकारियों की मनमानी चलती है। शहर के अरवल मोड,अस्पताल मोड़,मलह्चक,बत्तीस भंवरिया समेत अन्य सभी जगहों पर अतिक्रमण की समस्या कायम है। अतिक्रमण के कारण ही आए दिन दुघटनाएं होते रहती है। अरवल मोड़ के समीप एक सप्ताह पूर्व ही एक युवक की ट्रक में चपेट में आने से मौत हो चुकी है। शहरवासियों द्वारा आक्रोश भी व्यक्त किया गया था। दिलचस्प बात तो यह है कि आटो के लिए बनाए गए स्टैंड में कोई वाहन नहीं खड़ा किया जाता है। आटो की संख्या अधिक रहने के कारण शहरवासी जाम की समस्या से भी जुझते रहते हैं। रुक रुक कर अरवल मोड़, अस्पताल मोड़ के समीप जाम की समस्या बनी रहती है। ट्रैफिक पुलिस जाम की समस्या से निजात दिलाए जाने को लेकर तत्पर तो दिखते हैं लेकिन बेतरतीब ढंग से संचालित आटो के कारण जाम की समस्या बनी रहती है। अतिक्रमण की समस्या को दूर करने में प्रशासन पूरी तरह उदासीन

अतिक्रमण की समस्या को दूर करने में प्रशासन पूरी तरह उदासीन बना है। सड़क किनारे फुटपाथ पर दुकानदारों का कब्जा के अलावा रिक्शा वालों का दिन भर जमघट के कारण लोगों को पैदल चलना भी मुश्किल हो रहा है। सुबह होते ही फुटपाथ पर दुकान सज जाने से बाद पैदल चलना भी मुश्किल हो जाता है।