UKADD
Saturday, October 16, 2021 at 10:55 AM

जमीन पर कब्जा किए जाने के मामले में प्रशासनिक अधिकारियों से की गई शिकायत

औरैया । जांच के दौरान दोनों पक्षों में कहासुनी हो गई। नौबत मारपीट तक आ गई, लेकिन किसी तरह से सभ्रांत नागरिकों ने समझा-बुझाकर मामला शांत कराया। टीम जांच करने के बाद वापस लौट गई। कानूनगो कृष्णवीर सिंह यादव ने ग्रामीणों के अलावा दोनों पक्षों से पूछताछ की। एसडीएम को जांच आख्या दिए जाने की बात कही है।

गांव अंतौल निवासी राधेश्याम पुत्र लक्ष्मीप्रसाद निवासी अंतौल ने प्रशासनिक अधिकारियों को शिकायती पत्र देते हुए बताया था कि ग्रामसभा की ओर से उसे भूमि आवंटित की गई थी। कई वर्षों से उनका कब्जा किए जाने का आरोप लगाया। गांव के कुछ लोगों द्वारा जमीन पर जबरन कब्जा कर बाउंड्रीवाल बना दी गई है। विरोध करने पर जान से मारने की धमकी वह लोग देते हैं। कई बार पीड़ित की ओर से शिकायती प्रशासन से की गई। बुधवार की दोपहर भूमि को देखने व पैमाइश के लिए पहुंची टीम के साथ नोकझोंक की गई। कानूनगो कृष्णवीर यादव व लेखपाल अरविद गौतम जांच करने के लिए पहुंचे थे। कृष्णवीर सिंह ने बताया कि नाप-जोख कर ली गई है। एसडीएम को आख्या दी जाएगी। निर्देश मिलने पर आगे की कार्यवाही शुरू कराई जाएगी।

मजदूरी करके वापस घर लौट रहे युवक को रोकते हुए कुछ लोगों ने मारपीट कर घायल कर दिया। आसपास मौजूद लोगों ने किसी तरह बीच-बचाव किया। पीड़ित की तहरीर पर पुलिस ने जांच शुरू की है। गांव दखलीपुर निवासी विमल कुमार पुत्र प्रेमदास ने थाना में दर्ज कराई रिपोर्ट में बताया कि बुधवार की दोपहर वह मजदूरी करके वापस अपने घर जा रहा था। गांव के ही धर्मेंद्र सिह बाथम पुत्र राकेश, मोहित बाथम पुत्र सत्य प्रकाश, नीतिन मिश्रा पुत्र बबोल मिश्रा, अमीत लोहार पुत्र संतोष लोहार ने उसे जाती सूचक गालियां देते हुए रोक लिया। विरोध करने पर मारपीट करना शुरू कर दिया। चीखने की आवाज सुनकर आसपास मौजूद लोग पहुंचे। जिन्हें आता देख आरोपित भाग निकले।