Saturday, January 22, 2022 at 2:23 AM

समान वेतन, अधिकारों की मांग को लेकर संविदा कर्मियों ने मुख्यमंत्री को भेजा 7 सूत्रीय ज्ञापन

बस्ती – गुरूवार को उ.प्र. राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन संविदा कर्मचारी संघ प्रदेश नेतृत्व के आवाहन पर कार्यकारी जिलाध्यक्ष डा. अजय कुमार के संयोजन में 7 सूत्रीय मांगों को लेकर जिलाधिकारी के प्रशासनिक अधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा। इसके पूर्व राजकीय इण्टर कालेज के परिसर में संघ की बैठक हुई और यहां से संघ के पदाधिकारी, सदस्य जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचे।
मुख्यमंत्री को भेजे 7 सूत्रीय ज्ञापन में 1 लाख एन.एच.एम. संविदा कर्मचारियों एवं लगभग 2 लाख आशा बहुओं को समान कार्य के लिये समान वेतन और अधिकार की मांग किया गया है। ज्ञापन में कहा गया है कि अन्य राज्यों की भांति संविदा कर्मियों का स्थायीकरण करने के साथ ही संविदा के सापेक्ष जो पद स्वास्थ्य विभाग में अभी तक सृजित नहीं है उनका सृजन किया जाय। डा. अजय कुमार ने ज्ञापन सौंपते हुये कहा कि यदि 7 सूत्रीय मांगों पर शीघ्र विचार न किया गया तो प्रदेश नेतृत्व के आवाहन पर संविदाकर्मी आन्दोलन को बाध्य होंगे।
उ.प्र. राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन संविदा कर्मचारी संघ के संरक्षक चन्द्रमणि पाण्डेय ‘सुदामा’ ने कहा कि संविदाकर्मियों का स्थायीकरण होना ही चाहिये, उन्हें समान कार्य के लिये समान वेतन और अवसर दिये जांय। चेतावनी दिया कि यदि सरकार न चेती तो स्थितियां विकट होती जायंेंगी। संविदा कर्मियों की जायज मांगों को लगातार अनसुना किया जा रहा है।
ज्ञापन देने वालों में मुख्य रूप से डा. उमेश कुमार, मालती पाण्डेय, राघवेन्द्र त्रिपाठी, संजना पटेल, महेश कुमार श्रीवास्तव, कृष्ण मोहन सिंह, योगेश शुक्ल, उमेश सिंह के साथ ही बड़ी संख्या में नर्स, एएनएम, सीएचओ, बीपीएम आदि संविदा स्वास्थ्यकर्मी शामिल रहे।