मधुबनी । कोरोना की तीसरी लहर की मार शहर के कई बड़े स्टोर्स को झेलना पड़ रहा है। इन स्टोर्स में गर्म कपड़ों का बड़ा स्टॉक घाटे का सौदा साबित हो रहा है। ठंड के दिनों में कोरोना की तीसरी लहर से गर्म कपड़ों की बिक्री पर संकट आ गया। इस वर्ष ठंड का असर कम होने के कारण भी लोग गर्म कपड़े खरीदारी करने से बचते रहे। हालांकि, मंदी की मार से बचने के लिए शहर के बड़े स्टोर्स में गर्म कपड़े सहित कई अन्य

वस्तुओं की खरीदारी पर डिस्काउंट दी जा रही है। ताकि, मंदी की क्षतिपूर्ति हो सके। बता दें कि शहर के आधा दर्जन बड़े स्टोर्स में करीब चार करोड़ मूल्य के गर्म कपड़े पड़े हैं।

स्टॉक को खपाने के लिए दिया जा रहा डिस्काउंट ऑफर :

शहर के प्रधान डाकघर रोड में स्टैंड एलाउन शॉप सिटी कार्ट में कोरोना को लेकर गर्म कपड़ों की खरीदारी कम हो गई है। इसके प्रबंधक आनंद ने बताया कि कोरोना को लेकर गर्म कपड़ों की बिक्री 40 प्रतिशत कम हो गई है। स्टॉक में करीब 60 लाख मूल्य के गर्म कपड़े पड़े हुए हैं। कम खरीदारों आने से भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है। इसकी बिक्री के लिए 50 से 70 प्रतिशत डिस्काउंट ऑफर शुरू किया गया है, ताकि गर्म कपड़े की सेल हो सके। उन्होंने बताया कि शॉप में 25 कर्मी कार्यरत हैं। गाइडलाइन के अनुसार 50 प्रतिशत कर्मियों की उपस्थिति होती है।

शहर के बाजार इंडिया स्टोर्स के प्रबंधक विनय कुमार ने बताया कि इस वर्ष करीब दो करोड़ रुपये के गर्म कपड़ों का स्टॉक रखा गया था। जिसमें अब तक करीब 70 लाख मूल्य के गर्म कपड़ों की बिक्री हुई है। आने वाले दिनों में पांच से दस लाख के गर्म कपड़ों बिक्री की उम्मीद है। शेष गर्म कपड़ों के लिए 40 से 50 प्रतिशत डिस्काउंट पर ऑफर शुरू किया गया है। स्टोर्स में आने वाले के लिए प्रवेश गेट पर जांच की सुविधा बहाल है। कुल 22 कर्मी में से 11 कर्मियों से काम लिया जा रहा है। कोरोना की तीसरी लहर से गर्म कपडों की बिक्री पर भारी असर पड़ा है। वर्तमान में प्रतिदिन 40 से 50 हजार का सेल है। जबकि, पिछले वर्ष ठंड के दिनों में प्रतिदिन एक से डेढ़ लाख रुपये का सेल था।

See also  स्वतंत्रता दिवस की तैयारी को लेकर सीओ की अध्यक्षता में विभिन्न सरकारी व गैर सरकारी कार्यालयों के अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों की हुई बैठक