UKADD
Thursday, October 21, 2021 at 7:17 PM

श्रद्धालुओं की पूजा पंडालों में उमड़ी भीड़

नालंदा। महाअष्टमी की पूजा के साथ ही आज मां भगवती की भक्ति का ज्वार चरम पर पहुंच गया। माता के पंडालों में माता की भक्ति के डोर से बंधा जनसैलाब उमड़ पड़ा। चाहे भैंसासुर का पंडाल हो या पुलपर स्थित पंडाल सभी जगह भक्तों की भारी भीड़, उत्साह, उमंग और मां के दर्शन की आतुरता आयोजन को अद्भुत- अकल्पनीय बना रहे थे।

पूजा पंडाल मां के धाम बन गए और भक्त इसमें खींचे चले आ रहे थे। अगर प्रतिमाओं की बात की जाए तो सभी पूजा पंडालों की प्रतिमाएं अपने भव्य रूप से भक्तों को आत्मविभोर करने वाली हैं। हालांकि कोरोना को लेकर इस बार पंडाल बड़ा तो नहीं था लेकिन कई पंडालों की प्रतिमाएं अपनी सौम्यता से भक्तों का मन मोह रही थी तो कुछ पंडालों में स्थापित प्रतिमाएं अपने रौद्र-सौन्दर्य से भक्तों को आकर्षित कर रही थी। प्राय: सभी प्रतिमाओं में मूर्तिकार की कला, कल्पना तथा कारीगरी की बारीकियों के दर्शन हो रहे थे। बुधवार को देवी दुर्गा के आठवें स्वरूप की पूजा की गयी। पूजा के दौरान सभी पंडालों व देवी मंडपों और दुर्गा मंदिरों में महिलाओं की भारी भीड़ देखी गयी।

दुर्गा मंदिरों और पूजा पंडालों में आज सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गये थे। बड़ी संख्या में सादे लिबास में भी पुलिस कर्मियों की प्रतिनियुक्ति की गयी है। इधर महलपर, भैंसासुर, बड़ी पहाड़ी, मोहद्दीनगर,सिगारहाट, डाकबंगला मोड़, एतबारी बाजार, खंदकपर, आलमगंज, शेरपुर, आशानगर, बसारबिगहा सहित अन्य पंडालों में मां की गोद भराई को लेकर महिलाओं की भारी भीड़ देखी गयी।

शहर में मां का दर्शन करने और आकर्षक विद्युत सज्जा तथा मेले का आनंद लेने के लिए बड़ी संख्या में ग्रामीण क्षेत्र के लोग भी बिहारशरीफ पहुंचे, जिसके कारण सुबह से ही पूजा पंडालों में श्रध्दालुओं की भारी भीड़ उमड़ने लगी और शाम को सभी प्रमुख मार्गों में छोटे-बड़े वाहनों का परिचालन बंद कर दिया गया, इसके बावजूद पूजा पंडालों में भक्तों का जनसैलाब उमड़ पड़ा।

 

कोरोना गाइडलाइंस के बावजूद शहर के अधिकांश लोगों के चेहरे पर मास्क नहीं दिखा। आयोजक ने तो पूरी तैयारी कर रखी थी लेकिन लोगों के चेहरे पर कोरोना का खौफ न के बराबर दिखा। लोगों की लापरवाही का खामियाजा पूरे शहर को न भुगतना पड़ जाए, इसकी चिता प्रशासन के चेहरे पर साफ झलक रही थी।