Saturday, November 27, 2021 at 3:24 AM

डीएपी खाद किसानों की जेब काट रही

फतेहपुर । दरअसल सहकारी समितियों में डीएपी खाद की किल्लत अब भी छाई हुई, इधर निजी दुकानों में खाद तो मौजूद है लेकिन उसकी ओवर रेटिग बड़े पैमानें पर हो रही है। अंधेर यह है कि अफसरों की अनदेखी से मनमानी हर दिन बढ़ रही है। निजी खाद की दुकानों में डीएपी की खाद भरपूर है, नियमों के हिसाब से यहां भी खाद की बिक्री नियम 1200 रुपये बोरी में ही बेंची जानी हैं। लेकिन दुकानदार खाद की किल्लत बताकर किसानों से 1300 से 1400 रुपये प्रति बोरी वसूल कर रहे हैं। मजबूरी में किसान यहां से खाद ले रहा है। दरअसल कृषि विभाग ने खाद के मूल्यों के नियंत्रण को शिकायत प्रकोष्ठ खोला है। इसके लिए दो मोबाइल नंबर जारी है, लेकिन यह नंबर लगते ही नहीं है। ऐसे में शिकायतें विभाग तक नहीं पहुंच पाती है। बीते दिनों डीएम अपूर्वा दुबे के निर्देश पर कृषि व राजस्व विभाग की टीमों ने छापेमारी की थी, जिसके बाद एक से दो दिन राहत रही। लेकिन अब फिर से दुकानदार मनमानी पर उतारू हो गए हैं।

जिला कृषि अधिकारी बृजेश सिंह ने कहा कि खाद की ओवर रेटिग न हो इसके लिए समय समय पर छापेमारी की जाती है। आगे भी छापेमारी की जाएगी। जिन दुकानदारों द्वारा तय मूल्य से अधिक में खाद की बिक्री की जाएगी उसका लाइसेंस निरस्त किया जाएगा।