UKADD
Saturday, October 16, 2021 at 3:54 AM

वैक्सीनेशन डाटा में लापरवाही पर ननि अधिकारियों को डीएम की लताड़

झांसी। जिलाधिकारी आन्द्रा वामसी ने विकास भवन सभागार में जनपद के समस्त नगर निकायो को पूर्ण कोरोना वैक्सीनेशन से संतृप्त किये जाने के निर्देश देते हुये कहा कि निकायो का डाक्यूमेन्टेशन गुणवत्तापरक नही है, झांसी नगर निगम भी डाक्यूमेन्टेशन में फिसड्डी चल रहा है, इस कारण कितनों को वैक्सीन लगायी जा चुकी, कितने अवशेष है, यह डाटा अनुपलब्ध है। जिलाधिकारी ने नगर पालिका एवं नगर पंचायतों को दो दिन का समय और नगर निगम को एक सप्ताह का समय निर्धारित करते हुये डाक्यूमेन्टेशन करने के निर्देश दिये।

उन्होंनेे साफ शब्दों में कहा कि वोटर लिस्ट को आधार मानते हुये वार्डवार डोर-टू-डोर सर्वे किया जाये ताकि यह सुनिश्चित हो कि कितनों को कोरोना वैक्सीन लगायी जा चुकी है और कितनों को लगाना अवशेष है, यह तथ्यात्मक डाटा उपलब्ध हो जायेगा। उन्होने नगर निगम में पुनः सर्विलांस टीम को एक्टिव करने के निर्देश देते हुये कहा कि सर्विलांस टीम का सहयोग लेते हुये वार्ड वार डाटा का डाक्यूमेन्टेशन किया जाये। निकायो में किये गये वैक्सीनेशन का सही ढंग से डाक्यूमेन्टेशन नही होने के कारण वैक्सीनेशन की क्या स्थिति है, उसकी सही जानकारी नही है। जिलाधिकारी ने नगर निगम/नगर पालिका, नगर पंचायतों में वार्डवार वोटर लिस्ट के अनुसार डोर-टू-डोर सर्वे करने के निर्देश देते हुये कहा कि सर्वे से वार्ड की जनसंख्या की जानकारी होगी। साथ ही 18 से 44 वर्ष के महिला व पुरुष कितने है तथा 44 वर्ष से अधिक की महिला व पुरुष कितने है सही जानकारी प्राप्त हो जायेगी। उन्होने कहा कि सर्वे में यह भी ज्ञात हो जायेगा कि कितनो को वैक्सीन लगायी जा चुकी व कितने अभी वैक्सीनेशन से छूटे हुये है।


इस मौके पर नगर आयुक्त अवनीश कुमार राय, सीएमओ डॉ अनिल कुमार, एडीएम संजय पांडेय, डीडीओ सुनील कुमार, एसडीएम मोंठ सान्या छाबड़ा, मऊरानीपुर अंकुर श्रीवास्तव, टहरौली राजकुमार, झांसी अतुल कुमार, गरौठा धीरेन्द्र कुमार सहित समस्त एमओआईसी, ईओ सहित अन्य चिकित्सक उपस्थित रहे।