UKADD
Thursday, October 21, 2021 at 8:54 PM

श्रद्धापूर्वक याद किए गए डा. राम मनोहर लोहिया

भोजपुर। जदयू जिला कार्यालय में आयोजित समारोह में शामिल वक्ताओं ने कहा कि लोहिया के विचारों का अगर कोई अंशत: भी पालन किया है तो उस नेता का नाम नीतीश कुमार है। अगर पूरे भारतवर्ष में लोहिया की पुण्यतिथि एवं जयंती मनाने का अधिकार किसी को है तो वह सिर्फ नीतीश कुमार को ही है।

धन्यवाद ज्ञापन करते हुए धन्यवाद ज्ञापन करते हुए पार्टी जिला अध्यक्ष संजय कुमार सिंह ने कहा कि आज के युवा वर्ग को लोहिया के सिद्धांतों एवं पदचिह्नों पर पूरी तरह नहीं तो अंशत: भी चलनी चाहिए। अन्य वक्ताओं में प्रदेश सचिव अशोक शर्मा, नंदकिशोर यादव, राजीव रंजन श्रीवास्तव, प्रवक्ता शंभु सोनी, ददन राम, अशोक प्रजापति, रामधनी भारती, श्रीराम महतो, अभय विश्वास भट्ट, डा. इन्द्रदेव पाण्डेय, विष्णु मिश्रा, अशोक ठाकुर, रितेश कुमार, आनंद कुशवाहा, संतोष ठाकुर आदि थे।

वहीं स्थानीय श्री कृष्ण चेतना समिति सभागार में शहीद अकली देवी स्मृति सेवा संस्थान द्वारा आयोजित समारोह का उद्घाटन करते हुए प्रो. बिरेन्द्र राय ने कहा कि डा. लोहिया समाजवाद के प्रखर प्रहरी और आजादी के अग्रदूत थे। समारोह की अध्यक्षता संस्था के अध्यक्ष यादव रामसकल सिंह भोजपुरिया और संचालन संस्था के सचिव बबन पंडित ने किया। अन्य शामिल लोगों में पिटू सिंह, विनोद कुमार, सुरेन्द्र आजाद, अशोक ठाकुर, गुप्तेश्वर शर्मा, सुमेश्वर बैठा, नन्हक सिंह, भुवनेश्वर यादव आदि थे।

सदर अस्पताल परिसर स्थित महात्मा गांधी की प्रतिमा स्थल पर गांव गरीब चेतना मंच द्वारा आयोजित समारोह की अध्यक्षता करते हुए मंच के संयोजक डा. राजेन्द्र प्रसाद सिंह ने कहा कि लोहिया के विचार आज भी प्रासंगिक हैं। उनके आदर्श और मर्यादा की रक्षा का हम सभी संकल्प लें। अन्य प्रमुख वक्ताओं में कामता प्रसाद ओर विजय सिंह आदि थे।

पीरो से संवाद सहयोगी के अनुसार डा. राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि पर विभिन्न राजनीतिक व सामाजिक संगठनों के कार्यकर्ताओं द्वारा पीरो लोहिया चौक स्थित उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धा से याद किया गया। मौके पर मौजूद समाजवादी नेता काशीनाथ यादव ने कहा कि डा. लोहिया ऐसी समाजवादी व्यवस्था चाहते थे, जिसमें सभी की बराबर की हिस्सेदारी रहे।

वे कहते थे कि सार्वजनिक धन समेत किसी भी प्रकार की संपत्ति प्रत्येक नागरिक के लिए होनी चाहिए। कार्यक्रम में चंदेश्वर सिंह, मदन यादव, पूर्व जिला पार्षद प्रमोद यादव, राजद नेता मो मेराज खां, सुरेन्द्र लहरबादी, हरेंद्र यादव. सत्यनारायण यादव. अब्दुल सलाम कुरैशी, बृज बहादुर गोपाल सहित कई अन्य लोग मौजूद थे।