Saturday, November 27, 2021 at 2:38 AM

निरीक्षण के दौरान चिकित्सालय बड़े पैमाने पर चिकित्सक व कर्मचारी अनुपस्थित मिले

बांदा । निरीक्षण के दौरान चिकित्सालय बड़े पैमाने पर चिकित्सक व कर्मचारी अनुपस्थित मिले। इससे राजिस्टर को साथ ले गए। बाहर से दवा लिखना मिलने पर नाराजगी जाहिर की। उन्होंने चिकित्सकों से बाहर की लिखी दवाओं के रुपये मरीजों को वापस कराए हैं। निरीक्षण के दौरान चिकित्सालय में चिकित्सा अधिकारी डा. टीआरसरसैया वरिष्ठ परामर्शदाता आर्थो, डा.एसपी गुप्ता वरिष्ठ परामर्शदाता नेत्र, डा. अशोक पटेल, डा. विनय कुमार, डा. शिवचरण पटेल, डा. अनिल यादव एवं चिकित्सा अधिकारी (संविदा), डा. राहुल श्रीवास्तव, डा. अभिषेक प्राणायामी, डा. आकाशदीप शिवहरे एवं फार्मासिस्ट जेएल राजपूत तथा कार्यालय स्टाफ कार्मिक आदि अनुपस्थित पाए गए। जिलाधिकारी ने कड़ी नाराजगी प्रकट करते हुए एक दिन का वेतन- मानदेय रोकने को कहा है। और चिकित्सा अधीक्षक को निर्देशित किया कि अनुपस्थित पाये गये चिकित्सकों, फार्मासिस्ट एवं अन्य स्टाफ के सम्बन्ध में एक सप्ताह में स्पष्टीकरण प्राप्त कर अपनी संस्तुती के साथ उन्हें प्रस्तुत करें।

जिलाधिकारी अनुराग पटेल के निरीक्षण के दौरान औषधि भण्डार कक्ष में सिप्ट्रियाजान मेडिसिन तथा इंजेक्शन एमाइका सल्फेट स्टाक में 1775 दिखाया गया जबकि 1550 का मिलान हो पाया और 150 का कोई लेखा-जोखा नहीं मिला। शहर के बाईपास का चौड़ीकरण व सु²ढ़ीकरण के लिए 122 करोड़ रुपये की स्वीकृति दी है। लोक निर्माण विभाग द्वारा इसके लिए अनुबंध गठित किए गए हैं। जिसमें मानकों की अनदेखी की शिकायत मंडलायुक्त से की गई है। इस पर कमिश्नर ने जांच के आदेश दिए हैं।

बबेरू क्षेत्र के भदेहदू निवासी पीसी पटेल द्वारा मंडलायुक्त से शिकायत की गई है कि बाईपास के चौड़ीकरण सु²ढ़ीकरण लंबाई 19.4 किमी. के लिए 122 करोड़ रुपये स्वीकृत हुए है। इसके आधार पर प्रातीय खड लोक निर्माण विभाग ने अनुबंध गठित किए हैं। शिकायतकर्ता ने अनुबंध के विपरीत मानको को ताक पर रखकर खराब गुणवत्ता का कार्य कराए जाने की शिकायत की है। कहा कि इस मार्ग में 9 से 15 में करीब 25 करोड़ रुपये का भुगतान कर दिया गया है। जबकि मार्ग में कार्य चल रहा है। शिकायतकर्ता ने इसकी जांच की मांग की है। मंडलायुक्त ने जिलाधिकारी व चित्रकूटधाम मंडल के कोषागार को शिकायत में दिए गए बिंदुओं की जांच कराकर 5 दिसंबर तक इसकी रिपोर्ट मांगी है।