UKADD
Saturday, October 16, 2021 at 10:41 AM

मोहल्ला पाठशाला के माध्यम से ग्रामीण बच्चों को शिक्षा से जोड़कर रखने का प्रयास जारी।

आज़मगढ़।

 

 

 

वर्तमान समय में लंबे समय से कोरोना महामारी के प्रभाव से बंद चल रहे स्कूलों से गरीब असहाय योग मजदूर वर्ग के बच्चों का भविष्य शिक्षा से दूर होकर अंधकार में होता चला जा रहा है। ऐसी स्थिति को देखते हुए कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए ग्रामीण क्षेत्र के बच्चों को मोहल्ला पाठशाला के माध्यम से जोड़कर गांव-गांव में जाकर शिक्षा की अलख जगाने का कार्य राहुल पूर्व माध्यमिक विद्यालय निजामाबाद में शिक्षा अनुदेशक के पद पर कार्यरत अमरजीत यादव विद्यालय के सहयोगी कुमुद भारती, निशा चौहान, शिवानी यादव ,सुनीता भारती तथा अन्य शिक्षकों के सहयोग से आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षण कार्य जारी रखने का कार्य कर रहे हैं। अमरजीत यादव का मानना है कि ऑनलाइन पढ़ाई के नाम पर केवल कागजी कोरम पूरा होता है, इससे गरीब मजदूर तथा किसान परिवार के ग्रामीण बच्चों को कोई लाभ नहीं मिल पाता क्योंकि परिषदीय विद्यालयों में पढ़ने वाले ज्यादा से ज्यादा बच्चों के घर पर एंड्राइड मोबाइल फोन उपलब्ध नहीं है जिसके पास उपलब्ध है वहां इस महंगाई में रिचार्ज नहीं हो पाते जिसके कारण बच्चे ऑनलाइन शिक्षण का कोई भी लाभ नहीं ले पा रहे हैं। इसलिए जब तक विद्यालय नहीं खुलते हैं, तब तक मोहल्ला पाठशाला चला कर बच्चों को शिक्षा से जोड़कर रखने का कार्य किया जाएगा।