Main

Today's Paper

Today's Paper

जो काम सरकार नहीं कर पा रही है, वह किया सोनू सूद ने 

Sonu Sood did what the government is not able to do

मुंबई। जो काम सरकार नहीं कर पा रही है, वह सोनू सूद कर रहे हैं। कोरोना की दूसरी लहर काल बनकर हमारे देश पर मंडरा रही है। इस बीच मंगलवार को सोनू सूद के कारण कम से कम 22 कोरोना संक्रमित मरीजों की जान बच गई। आधी रात को बेंगलुरु के एआरएके अस्‍पताल ने मदद की गुहार लगाई, बताया कि ऑक्‍स‍िजन नहीं है। सोनू सूद और उनकी टीम रातभर जुटी रही और कुछ ही घंटों में 15 ऑक्‍स‍िजन सिलेंडर की व्‍यवस्‍था कर दी।

 

मंगलवार को सोनू सूद चैरिटी फाउंडेशन के एक सदस्‍य को येलाहंका इलाके के इंस्‍पेक्‍टर एमआर सत्‍यनारायण ने फोन किया। बताया कि एआरएके अस्‍पताल में हालत बुरी है। मदद चाहिए। अस्‍पताल में ऑक्‍स‍िजन की कमी से पहले ही 2 मरीजों की जान जा चुकी है। 

 

सोनू सूद की टीम को जैसे ही इसकी खबर लगी, पूरी टीम आधी रात को ही ऑक्‍स‍िजन सिलेंडर के जुगाड़ में जुट गई। आधी रात को ही अपने सारे कॉन्‍टैक्‍ट्स को जगाया, उन्‍हें बताया कि इमरजेंसी है। कुछ घंटों की मेहनत के बाद सोनू सूद और उनकी टीम ने 15 ऑक्‍स‍िजन सिलेंडर अस्पताल पहुंचा दिए। 

 

जान बचाना इस वक्‍त सबसे बड़ी उपलब्‍ध‍ि है। सोनू सूद कहते हैं, 'यह पूरी तरह से टीमवर्क और हमारे साथ‍ियों में देशवासियों की मदद करने की इच्छाशक्ति का नजीता है। जैसे ही हमें इंस्पेक्टर सत्यनारायण जी का फोन आया, हमने इसे कंफर्म करते ही मिनटों के भीतर कार्रवाई शुरू कर दी। टीम ने पूरी रात किसी और चीज के बारे में न सोचते हुए, सिर्फ अस्पताल को ऑक्सि‍जन सिलेंडर दिलाने में मदद की। यदि देरी होती तो कई परिवार अपने करीबी लोगों को खो देते।'

 

सोनू सूद ने आगे कहा, 'मैं सभी का शुक्रिया अदा करना चाहता हूं, जिन्होंने कल रात इतनी सारी जिंदगी बचाने में मदद की। मेरी टीम मेंबर्स की यही लगन मुझे आगे और आगे बढ़ते रहने की प्रेरणा देती है। मुझे मेरी टीम मेंबर हश्मथ पर बहुत गर्व है, जो पूरे समय मेरे साथ संपर्क में रही और पूरी टीम ने उसकी मदद की।'

 

मंगलवार रात को हुई इस पूरी कार्रवाई में सोनू सूद की टीम के साथ पुलिस ने भी काफी मदद की। एक मरीज को श‍िफ्ट किया जाना था। लेकिन कोई एंबुलेंस ड्राइवर मौजूद नहीं था। ऐसे में पुलिस खुद मरीज को लेकर दूसरे अस्‍पताल गई।

 

सोनू सूद बीते दिनों खुद भी कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए थे। उन्‍होंने कोविड वैक्‍सीन की पहली खुराक ले ली है, इस कारण वह एक हफ्ते में ही संक्रमण को मात देकर स्‍वस्‍थ हो गए। ऐक्‍टर ने 'संजि‍वनी- ए शॉट ऑफ लाइफ' नाम से एक मुहिम शुरू की है, जिसके तहत वह लोगों से कोविड वैक्‍सीन जरूर लगवाने की भी अपील कर रहे हैं। 


 

Share this story