Saturday, November 27, 2021 at 3:45 AM

सड़क सुरक्षा अभियान के अंतर्गत निबंध प्रतियोगिता का आयोजन

शाहजहांपुर। स्वामी शुकदेवानंद महाविद्यालय में उच्च शिक्षा विभाग में सड़क सुरक्षा अभियान के अंतर्गत स्वामी शुकदेवानंद महाविद्यालय जोकि सड़क सुरक्षा अभियान का नोडल केंद्र बनाया गया है। दिनांक 22 नवंबर से 28 नवंबर तक चलने वाले सड़क सुरक्षा अभियान के आज चौथे दिन राष्ट्रीय सेवा योजना के तत्त्वावधान में “सड़क सुरक्षा जीवन रक्षा” विषय पर एक निबंध प्रतियोगिता का आयोजन राष्ट्रीय सेवा योजना के प्रभारी डॉ प्रमोद कुमार यादव के नेतृत्व में किया गया।
आज के कार्यक्रम में अभियान के उप नोडल अधिकारी डॉ कृष्ण यादव ने स्वयमसेवीयों को सड़क सुरक्षा विषय पर संबोधित करते हुए कहा, “सड़क सुरक्षा  के महत्त्व  को आज के युवाओं को अवश्य जानना चाहिए क्योंकि आज हजारों की संख्या में युवा लापरवाही से वाहनों को चलाते हैं जिससे उन्हें अनेक प्रकार की गंभीर चोटें और जीवन हानि भी हो जाती है इसलिए आज के युवाओं को सड़क सुरक्षा पर जागरूक होने की महती आवश्यकता है। सड़क दुर्घटनाओं से बचकर और इस विषय पर जागरूक होकर हम एक सुदृढ जीडीपी की संकल्पना को साकार कर सकते हैं”
कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ अनुराग अग्रवाल ने अभियान से परिचित कराते हुए स्वयंसेवीयों को बताया “सड़क सुरक्षा के अत्यंत महत्वपूर्ण विषय पर राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयं सेवकों को परिचित होना अत्यंत आवश्यक है क्योंकि यदि वे सड़क सुरक्षा जैसे महत्वपूर्ण विषय को स्वयं जानेंगे और जागरूक होंगे तब ही वे अपने सहपाठी और अपने साथियों को इस विषय पर जागरूक कर सकेंगे. सड़क दुर्घटनाओं में हजारों लाखों रुपए की संपत्ति और विशाल जनहानि से राष्ट्र की अपूर्णीय क्षति होती है इसलिए आज के युवाओं को सड़क सुरक्षा के के नियमो के प्रति सजग होने की आवश्यकता है।”
 कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि की भूमिका में उपस्थित राजनीति शास्त्र विभाग के अध्यक्ष डॉ आदित्य कुमार सिंह ने स्वयंसेवकों को संबोधित करते हुए कहा “सड़क सुरक्षा ही वास्तव में जीवन की सुरक्षा है क्योंकि आज हजारों लाखों की संख्या में भारतवासी विशेषकर युवा सड़क सुरक्षा की अनदेखी कर काल का ग्रास बनते जा रहे हैं आज यदि हमारा युवा सड़क सुरक्षा जैसे महत्त्वपूर्ण तथ्य से रूबरू होंगे तो हम कल एक सुनहरे इतिहास के निर्माण में में सक्षम होंगे।
कार्यक्रम में डॉ शालीन कुमार सिंह, डॉ दुर्ग विजय, अंकित अवस्थी, डॉ रीता दीक्षित आदि शिक्षक गण उपस्थित रहे।
कार्यक्रम में शक्ति सिंह, मुस्कान सिंह, दामिनी शुक्ला, वैभव गुप्ता, सीता, अभिषेक, गोविंद, मुरारी, राधे श्याम, गोपाल सिंह आदि स्वयंसेवकों ने भी अपने विचार व्यक्त किए और  प्रतियोगिता में प्रतिभाग किया।
प्रतियोगिता के परिणाम को अंतिम दिन घोषित किया जाएगा एवं प्रथम द्वितीय एवं तृतीय पुरस्कार प्राप्त करने वाले प्रतिभागियों को पुरस्कृत भी किया जाएगा।
कार्यक्रम के अंत में राष्ट्रीय सेवा योजना के प्रभारी डॉ प्रमोद कुमार यादव ने समस्त अतिथि गण एवं स्वयमसेवीयों का धन्यवाद ज्ञापन किया।