संपदा योजना के लिए आवेदन कम मिलने पर जताई नाराजगी

कटिहार :  पशु एवं मत्स्य संसाधन विभाग के द्वारा संचालित केंद्र प्रायोजित प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के अंतर्गत वित्तीय वर्ष 2021-22 में मत्स्य पालकों से प्राप्त आवेदन की स्वीकृति तथा वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए कार्य-योजना चयन को लेकर समीक्षा बैठक समाहरणालय सभागार में हुई।

बैठक में जिला मत्स्य पदाधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया गया कि मत्स्य विभाग के द्वारा सभी जिले में वित्तीय वर्ष 2021-22 से केंद्र प्रायोजित प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना संचालित है। इस योजना में कुल 31 घटक हैं। योजना को लेकर आनलाइन आवेदन प्राप्त करने की तिथि 17 अगस्त, 2021 से 25 अक्टूबर, 2021 तक निर्धारित की गई थी। निर्धारित तिथि तक कुल 41 आवेदन प्राप्त हुए हैं। योजना मद में अब तक कम आवेदन प्राप्त होने पर जिलाधिकारी ने नाराजगी जताते हुए कहा कि जिला अंतर्गत मत्स्य विकास की और अधिक संभावना है। डीएम ने कहा कि समुचित तरीके से योजना का प्रचार प्रसार नहीं होने तथा मत्स्य पालकों व किसानों को जागरूक नहीं किए जाने के कारण कम आवेदन प्राप्त हुए हैं। जिलाधिकारी ने सघन प्रचार प्रसार कराते हुए आगामी वित्तीय वर्ष में लक्ष्य प्राप्त करने का निर्देश जिला मत्स्य पदाधिकारी को दिया।

जिला मत्स्य पदाधिकारी ने कहा कि प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना अंतर्गत मुख्यत: अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, महिला एवं अन्य श्रेणी को चिन्हित किया गया है।

विभागीय प्रावधान के तहत चयनित आवेदकों को 6्र-60 प्रतिशत अनुदान दिया जाना है। जिलाधिकारी ने कहा कि मत्स्य संसाधन को लेकर जिले में व्यापक संभावना है। इसके बावजूद जागरूकता के अभाव में इच्छुक लोग इसका लाभ नहीं पाते हैं।

See also  किसान सरकार की कृषि योजनाओं का शत प्रतिशत लाभ उठाएं