Monday, December 6, 2021 at 4:56 AM

राजस्थान 31000 शिक्षक भर्ती के लटकने का डर

हाईकोर्ट ने बीएड डिग्रीधारकों को राजस्थान शिक्षक पात्रता परीक्षा ( रीट ) लेवल-1 के लिए योग्य नहीं माना। रीट लेवल-1 भर्ती के लिए बीएसटीसी अभ्यर्थी ही योग्य होंगे। हाईकोर्ट से झटका खाने के बाद अब बीएड अभ्यर्थी इस आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दे सकते हैं। अगर ऐसा हुआ तो राजस्थान में रीट के जरिए होने वाली 31000 शिक्षकों की भर्ती लटक सकती है। सुप्रीम कोर्ट में जब तक बीएड-बीएसटीसी मामले का निपटारा नहीं हो जाएगा तब तक लेवल-1 की भर्ती संभव नहीं हो पाएगी। रीट लेवल-1 के जरिए 5वीं तक की कक्षा को पढ़ाने वाले शिक्षकों का चयन किया जाता है।
राजस्थान हाईकोर्ट ने नेशनल काउंसिल ऑफ टीचर एजुकेशन (एनसीटीई) की उस अधिसूचना को भी रद्द कर दिया है जिसमें चयन के दो साल के भीतर ब्रिज कोर्स करने वाले बीएड डिग्रीधारकों को रीट लेवल-1 में नियुक्ति का पात्र मान लिया था। शिक्षा विभाग की ओर से जारी रीट नोटिफिकेशन में लेवल-1 में केवल बीएसटीसी वालों को ही पात्र माना गया था लेकिन बीएड डिग्रीधारियों के हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाने के बाद हाईकोर्ट ने बीएड वालों को दोनों लेवल में शामिल करने के आदेश दिए। दूसरी ओर बीएसटीसी अभ्यर्थियों ने भी हाईकोर्ट में एनसीटीई के नोटिफिकेशन को चुनौती दे दी थी। बीएसटीसी अभ्यर्थियों ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर मांग की थी कि रीट लेवल-1 भर्ती में केवल बीएसटीसी वाले ही पात्र हैं, लेवल-1 भर्ती प्रक्रिया से बीएड धारियों को बाहर किया जाए।