UKADD
Thursday, October 21, 2021 at 8:24 PM

पत्रकार की संदिग्ध मौत के मामले में महिला दारोगा और सिपाही निलंबित

उन्नाव। उत्तर प्रदेश के उन्नाव में पत्रकार सूरज पाण्डेय की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के मामले में आरोपी महिला दारोगा और सिपाही को निलंबित कर दिया गया है. अपर पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार पाण्डेय ने बताया कि गत बृहस्पतिवार को रेल की पटरियों के पास से पत्रकार सूरज पाण्डेय (22) का शव बरामद हुआ था. उन्होंने बताया कि पत्रकार की मां लक्ष्मीं पाण्डेय की तहरीर पर बिहार थाने में तैनात महिला दारोगा सुनीता चौरसिया और महिला थाने में थानाध्यक्ष के वाहन चालक सिपाही अमर सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था।

जांच के लिए गठित की गई टीम
पाण्डेय ने बताया कि रिपोर्ट दर्ज होने के बाद से ही आरोपी महिला दारोगा और सिपाही अपनी तैनाती स्थल से बिना बताए गायब हो गये थे. इस वजह से पुलिस अधीक्षक ने दोनों को निलंबित कर दिया है. उन्होंने कहा कि साथ ही पत्रकार की मौत का सच सामने लाने के उद्देश्य से मामले की जांच के लिए पुलिस क्षेत्राधिकारी (नगर) गौरव त्रिपाठी के नेतृत्व में एक टीम गठित की गई है।

मां ने सीएम योगी को लिखा पत्र
इधर, घटना के दो दिन बाद भी किसी की गिरफ्तारी न होने पर मृतक पत्रकार की मां ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर परिवार की सुरक्षा और दोषियों की गिरफ्तारी की मांग की है. पुलिस अधीक्षक आनंद कुलकर्णी ने पोस्टेमार्टम रिपोर्ट के बारे में बताया कि जो चोटें आई हैं वो ट्रेन दुर्घटना के कारण लगी प्रतीत हो रही हैं. मौके से मिले साक्ष्यों के अनुसार, ये आत्महत्या का मामला लग रहा है।