Saturday, January 22, 2022 at 1:33 AM

दूसरों के उतारे हुए अंडरगार्मेंट पहनती है लड़की!

अजब गजब : वैसे तो लड़कियों को हर मौके पर नए कपड़े खरीदने का शौक होता है. हर मौके पर लड़कियां नए कपड़े पहनकर सबसे अलग दिखना चाहती हैं. उनके हाथ में जैसे ही पैसे आते हैं, वह तुरंत ही कपड़ों और जूतों की शॉपिंग करती हैं, लेकिन आज हम आपको एक ऐसी लड़की के बारे में बताने जा रहे हैं, जो अंडरवियर से लेकर ब्रा तक सब कुछ दूसरों के उतारे हुए पहनती है.
आप सोच रहे होंगे कि यह कोई गरीब लड़की होगी, जिसके पास कपड़े खरीदने के लिए पैसे नहीं होंगे. इसलिए लड़की दूसरों के उतारे हुए कपड़े पहनती है! जी नहीं, लड़की बिल्कुल भी गरीब नहीं है. यह लड़की मार्केटिंग इंडस्ट्री में काम करती है और इसके पास पैसों की कोई किल्लत नहीं है. यह लड़की दूसरों के उतारे हुए कपड़े किसी खास मकसद से पहनती है.
ब्रिटेन की रहने वाली 24 साल की बेकी ह्यूफ्स ने पिछले 2 सालों से अपने लिए कोई नए कपड़े नहीं खरीदे हैं. बल्कि नए कपड़ों की जगह बेकी सेकंड हैंड कपड़े खरीदती हैं. दरअसल, बेकी ने ऐसा करके लाखों रुपये की बचत की है. इसी वजह से वह अपने लिए कोई नए कपड़े नहीं खरीदती हैं. यहां तक कि वह अपने अंडरगार्मेंट्स भी नए नहीं खरीदती हैं, बल्कि उन्हें भी वह सेकंड हैंड ही खरीदती हैं.

बेकी ने तीन साल पहले कसम खाई थी कि वह नए कपड़ों की बजाय सेकंड हैंड कपड़े खरीदेंगी. यह उनके पैसे बचाने का एक अनोखा तरीका भी है. बेकी का कहना है कि नए हों या सेकंड हैंड कपड़े, दोनों देखने में एक जैसे लगते हैं. वहीं दोनों की कीमतों में जमीन-आसमान का फर्क होता है. इसलिए नए कपड़ों में खर्च करना फालतू है.

बेकी ब्रिटेन के वॉल्वरहैम्पटन में रहती हैं. उन्होंने साल 2018 से नए कपड़े छोड़कर सेकंड हैंड कपड़े खरीदने शुरू किए. बेकी चैरिटी शॉप तथा ऐप्स से सेकंड हैंड कपड़े खरीदती हैं. बेकी बताती हैं कि उनके कलेक्शन में डिजाइनर्स के कपडे़ शामिल हैं. वह बताती हैं कि जहां ये कपड़े नए खरीदने पर उन्हें 40 से 50 हजार रुपये खर्च करने पड़ते, वहीं इन्हें सिर्फ 400-500 रुपये में उन्होंने खरीदा है. वह बताती हैं कि महीने में 1000-1500 रुपये खर्च करके वह काफी अच्छे कपड़े खरीद लेती हैं.

बेकी ने अपने अंडरगार्मेंट्स भी चैरिटी शॉप्स से ही खरीदे हैं. वह बताती हैं कि उनके पास ब्रा का कलेक्शन है. चैरिटी शॉप्स से कपड़े खरीदकर वह हर साल 2 से ढाई लाख रुपये बचा लेती हैं. सिर्फ यही नहीं बेकी अपने उतारे हुए कपड़े बेच भी देती हैं. ऐसे में उन्हें पुराने कपड़ों के बदले भी पैसे मिल जाते हैं और उनकी वॉर्डरोब भी सही रहती है.